वह बीता हुआ फोन कॉल

Antarvasna, hot sex chat यह बात उस वक्त की है जब मैं 21 वर्ष का गबरू जवान था मैंने जवानी की दहलीज पर पहला कदम ही रखा था। उस वक्त हमारे कॉलेज में कई लड़के थे जो अपनी गर्लफ्रेंड के साथ फोन सेक्स किया करते थे मेरा रूम पार्टनर एक नंबर का सेक्स का ठरकी था वह अपनी गर्लफ्रेंड के साथ ऐसी ऐसी बातें करता जिससे कि मेरा वीर्य भी बाहर की तरफ निकाल जाता था। मैं चाहता था कि मैं भी किसी से फोन सेक्स करूं मेरे दिल में यही चाहत थी। मेरे पास कोई विकल्प नही था मैं किससे बात करूं मैं दिखने में बड़ा सामान्य सा हूं इसलिए मेरी कोई गर्लफ्रेंड ही नहीं बन पाई। मेरे दोस्त मुझे कहते तुम एक नंबर का फट्टू हो तुम्हारे अंदर बिल्कुल भी दम नहीं है यह बात मेरे दिल पर लग चुकी थी और मैंने अपने फोन पार्टनर को ढूंढना शुरू कर दिया था लेकिन मेरी राह आसान नहीं होने वाली थी। मुझे जब मेरे एक दोस्त ने मीना का नंबर दिया तो मैंने उसे जब पहली बार बात की तो हमारी बात इतनी रोचक नहीं हो पाई थी लेकिन धीरे जब हम दोनों की फोन पर बातें होने लगी तो हम दोनों एक दूसरे के फोन का इंतजार किया करते थे। जब पहली बार मेरी मीना से अश्लील बातें हुई तो उसके कुछ अंश मैं आपको बताता हूं।

मैं- मीना क्या कर रही थी?

मीना- कुछ नहीं बस तुम्हारे फोन का इंतजार कर रही थी।

मैं- अच्छा तो तुम मेरे फोन का इंतजार कर रही थी।

मीना- तुमने बिलकुल गलत समय पर फोन किया मैं तुमसे बात नहीं कर सकती।

मैं- लेकिन क्यों बात नहीं कर सकती।

मीना- पापा आ चुके हैं अब मैं बात नहीं कर सकती, मैं फोन रख रही हूं।

मैं- ऐसा मत करो।

मीना- देखो अमन मुझे फोन रखना ही पड़ेगा नहीं तो पापा ने मुझे फोन पर बात करते हुए देख लिया तो वह मुझे नहीं छोड़ेंगे इसलिए मैं फोन रख रही हूं।

मीना ने फोन रख दिया लेकिन हम दोनों की फोन चैट के माध्यम से बात हो रही थी। हम दोनों फोन चैट पर काफी देर तक एक दूसरे से बात करते रहे परंतु जब हम दोनों के अश्लीलता भरे मैसेज बहुत ज्यादा अश्लील होने लगे तो मीना भी अपने आपको ना रोक पाई और उसने मुझे फोन कर ही दिया। जब मीना ने मुझे फोन किया तो मैंने फोन उठाते ही उसे कहा।

मीना- अमन तुम तो मुझे चैन से रहने ही नहीं दोगे।

मैं- मैं क्यों तुम्हें चैन से नहीं रहने दूंगा।

मीना- तुम मुझे क्या मैसेज कर रहे थे।

मैं- मैंने तुम्हें यही तो कहा आज तुमने क्या पहना हुआ है?

मीना- मुझे यह सब बताना बिल्कुल अच्छा नहीं लगता।

मैं- लेकिन मुझे तो बहुत अच्छा लगता है मेरे दोस्त अपनी प्रेमिकाओ से ऐसी ही बातें करते हैं और एक तुम हो जो गुस्सा होती रहती हो।

मीना- मुझे तुमसे बात नहीं करनी मैं फोन रख रहा हूं।

मै- मीना तुम भी छोटी-छोटी बातों पर गुस्सा हो जाते हो, तुम पहले तो गुस्सा मत हुआ करो। मीना तुम मुझे बताती क्यों नहीं की तुमने आज क्या पहना हुआ है।

मीना- चलो बाबा तुम्हें बताना पड़ेगा कि मैंने क्या पहना हुआ है।

मैं- जल्दी बताओ ना क्या पहना हुआ है मुझसे रहा नहीं जा रहा।

मीना- बता तो रही हूं थोड़ा सब्र तो कर लो तुम्हें तो बिल्कुल भी सब्र नहीं है।

मैं- हां तो जल्दी बताओ ना मुझसे रहा नहीं जा रहा।

मीना- देख तो लूं मैंने पहना क्या है।

मैं- मीना तुम्हें यह भी नहीं पता कि तुमने क्या पहना हुआ है।

मीना- मेरे पास बहुत सारे अंडर गारमेंट्स है मुझे ध्यान नहीं रहता कि मैंने क्या पहना हुआ है।

मैं- अच्छा तो देखकर बताओ तुमने क्या पहना है।

मीना- मैंने फूल वाली बेगनी ब्रा पहनी हुई है और जालीदार काली पैंटी पहनी हुई है।

मैं- चलो तुमने मुझे बता ही दिया कि तुमने क्या पहना हुआ है वैसे आज जब यह बात हो ही चुकी है तो तुम यह भी बता दो कि तुम्हारा फिगर का साइज क्या है।

मीना- मेरा फिगर जानकर तुम क्या करोगे।

मैं- तुम ही बताओ फिगर जान कर क्या करूंगा।

मीना- मुझे क्या पता तुम क्या करोगे।

मैं- फिलहाल तो तुम मुझे अपना फिगर बता दो उसके बाद सोचते हैं कि क्या करना है।

मीना- मेरा फिगर 32, 30, 36 है।

मैं- मीना तुम्हारा फिगर बड़ा लाजवाब है लेकिन तुम्हारे हिप्स बड़े ही मोटे हैं। तुमने ऐसा क्या किया जो तुम्हारे हिप्स इतने बड़े हो गए।

मीना- भला मैं क्या करूंगी वह तो अपने आप ही बड़े हो गए। तुम भी ना जाने कैसी कैसी बातें करते रहते हो मुझे तो तुम्हारी बात समझ में नहीं आती।

मैं- अच्छा तुम्हारी समझ में मेरी बात नहीं आती।

मीना- मुझे तुम्हारी बातें कुछ समझ में नहीं आती।

मैं- तुम्हारी गांड बहुत ही बड़ी है क्या किसी ने तुम्हारी गांड के मजे लिए हैं।

मीना- छी कैसी बात कर रहे हो जाओ मुझे तुमसे बात नहीं करनी।

मैं- इसमे शर्माने कि क्या बात है।

मीना- क्यों इसमें शर्माने की बात क्यों नहीं है तुम बात ही ऐसी कर रहे हो।

मैं- क्या तुमने कभी किसी के लंड को देखा है?

मीना- ये लंड क्या होता है?

मैं- क्या तुम्हें लंड नहीं पता।

मीना- नहीं मुझे नहीं पता।

मैं- चलो मैं तुम्हें बताता हूं कि लंड क्या होता है लगता है आज तुम्हें सब कुछ बताना पड़ेगा।

मीना- चलो बताओ क्या होता है लंड

मैं- जो मेरे पास है वही लंड होता है।

मीना- अच्छा तो जो तुम्हारे पास है वह लंड होता है उसे तो मैं पेनिस कहती हूं।

मैं- मीना उसे इंग्लिश में पेनिस कहते हैं लेकिन देसी भाषा में कहने में जो आनंद आता है वह पेनिस कहने में आनंद नहीं आता।

मीना- चलो आज के बाद मैं भी तुम्हारे पेनिस को लंड ही कहूंगी।

मैं- हां मीना यह हुई ना बात आज के बाद मैं तुमसे जब भी बात करूंगा तो तुम यही कहोगी।

मीना- वैसे लंड कहने में बड़ा अच्छा लग रहा है एक फीलिंग आ रही है।

मैं- चलो अपने बॉयफ्रेंड के बारे में तो कुछ बताओ।

मीना- मेरा कोई बॉयफ्रेंड नहीं था।

मैं- क्यों झूठ बोल रही हो।

मीना- सचमुच में मेरा कोई बॉयफ्रेंड नहीं था बस स्कूल टाइम में एक लड़के से मेरा क्रश था। उसके पीछे में पूरी तरीके से पागल थी लेकिन वह मुझे बिल्कुल भी भाव नहीं दिया करता था।

मैं- मीना तुम भी बिल्कुल मेरी तरह ही हो।

मीना- तभी तो तुमसे फोन पर बात कर रही हूं क्योंकि मुझे तुमसे बात करने में अपनापन सा महसूस होता है और लगता है कि तुम मेरे अपने हो

मैं- कम से कम तुमने मुझे अपना तो माना।

मीना- मैं तो तुम्हें अपना ही मानती हूं इसीलिए तो तुमसे बात करती हूं।

मैं- तुमने कभी किसी के लंड को अपने मुंह में लिया है।

मीना- अमन यह कैसी बात कर रहे हो। मैंने एक बार अपने मामा को हस्तमैथुन करते हुए पकड़ लिया था उसके बाद उन्होंने मुझसे आज तक अपनी नजर नहीं मिलाई है।

मैं- मैं भी हस्तमैथुन कर रहा हूं तुम्हारी बड़ी गांड की कल्पना कर के मेरा वीर्य बाहर गिरने वाला है।

मीना- मैं भी आज अपनी चूत में अपनी उंगली को डाल ही देती हूं।

मैं- हा मीना डालो ना जल्दी से डालो मैं बेसब्री से इंतजार कर रहा हूं।

मीना- लो अपनी चूत में उंगली डाल दी आह आह आह ऊह ऊह ऊह आह दर्द हो रहा है ऐसा लग रहा है कुछ घुस गया हो।

मैं- मीना दर्द होगा ही ना लेकिन मजा भी तो आ रहा होगा।

मीना- अभी चुप रहो कुछ ना कहो सिर्फ मैं तुम्हें महसूस कर रही हूं।

मैं- मै भी तुम्हारी बड़ी गांड की कल्पना कर रहा हूं ऐसा महसूस कर रहा हूं जैसे कि तुम्हारी गांड मेरे लंड पर तुमने सटा दी हो और मैं धक्के मार रहा हूं।

मीना- अच्छा तो तुम मेरी गांड में धक्के मार रहे हो। मैं भी तुम्हारे लंड को अपनी गांड में ले रही हूं।

मैं- तुम्हें कैसा लग रहा है?

मीना- मुझे तो मजा आ रहा है और तुम्हें कैसा लग रहा है।

मैं- मुझे तो बहुत मजा आ रहा है ऐसा लग रहा है तुम्हारी गांड फाड़ कर अपने लंड को अंदर ही फिट कर दूं।

मीना- तुमने तो अपने लंड को मेरी गांड में फिट कर ही दिया है लेकिन मेरी योनि से अब खून निकलने लगा है।

मैं- मेरा तो बस गिरने ही वाला है लो गिर ही गया।

मीना- मेरी की योनि से खून निकल रहा है कहीं कुछ होगा तो नहीं।

मैं- अरे पगली कैसे कुछ हो जाएगा कुछ नहीं होगा तुम डरो मत।

मीना- लेकिन मुझे बहुत डर लग रहा है।

मैं- अरे मीना डरो मत कुछ नहीं होगा तुम बेवजह ही चिंता कर रही हो।

मीना से मैं कभी मिल नहीं पाया लेकिन उसकी कल्पना कर के और उसकी फोटो देख कर ही मैंने कई समय तक मुठ मारी परंतु उसकी शादी किसी डॉक्टर से हो गई और मैं भी अपने जीवन में आगे बढ़ गया।

Tags: , , ,
error: