मम्मी के डिलडो को चूत मे लेकर बॉयफ्रेंड से बात की

online sex chat, hindi sex chat

मेरा नाम रूप है, मैं अपने कॉलेज के एक हैंडसम हंक लड़के से फस गई लेकिन मैंने उसे अपने यौवन का रसपान नहीं करने दिया और उसे अभी तक तड़पा कर रखा है। मैं हर रात उसका पानी गिरा देती हूं जिससे कि वह तड़प उठता है। वह कहता है तुम मुझे कब अपने यौवन का रसपान करवा रही हो। मैं उसे हमेशा ही गोली देती रहती हूं और कहती हूं बस कुछ दिनो बाद हम दोनों सेक्स कर लेंगे। वह बहुत ही परेशान हो चुका है और कई बार इस बात से चिढ भी जाता है लेकिन जब भी वह मेरे साथ फोन सेक्स करता है तो उसे बड़ा मजा आता है उसके बाद उसका मूड अच्छा हो जाता है। मैं आपको कल रात की अपने और अपने बॉयफ्रेंड की  फोन पर अश्लील बात को बताती हूं।

कमल- रूप आज तुम कॉलेज से जल्दी क्यों आ गई? मेरा बिल्कुल भी मन नहीं लगा।

मैं- मेरी तबीयत ठीक नहीं थी इसलिए मैं जल्दी घर आ गई।

कमल- मैंने तुम्हारे साथ कहीं घूमने का प्लान बनाया था और तुमने मेरा पूरा प्लान ही चौपट कर दिया। उसके बाद तुमने ना तो मेरा फोन उठाया और ना ही तुम मुझसे बात कर रही हो।

मैं- ऐसी कोई भी बात नहीं है मैं तुमसे बात क्यों नहीं करूंगी। मेरे पापा और मम्मी बैठे हुए थे इसलिए मैं तुम्हारे फोन नही रिसीव नहीं कर पाई थी।

कमल- अभी तो तुम फ्री हो या फिर अभी भी कोई तुम्हारे साथ ही बैठा हुआ है?

मैं- अभी कौन होगा मेरे साथ अब रात के 11:00 बज चुके हैं और इस वक्त मेरे साथ कौन होगा।

कमल- चलो यह तो अच्छी बात है तुम अकेली हो नहीं तो तुम तो आजकल बहुत ज्यादा ही एटीट्यूड में रहती हो मेरी तरफ तो तुम देखती भी नहीं हो।

मैं- मैं तुम्हारी तरफ नहीं देखते तो तुमसे प्यार भी नहीं करती क्या तुम मेरे साथ रिलेशन में खुश नहीं हो?

कमल- ऐसी कोई बात नहीं है लेकिन तुम मेरी सेक्स को लेकर जरूरतों को पूरा नहीं कर रही हो। मैं चाहता हूं कि तुम्हारे साथ में सेक्स का सुख भोगू लेकिन तुम तो बस मुझे अपनी गांड दिखाती रहती हो और अपने स्तनों से मुझे अपनी तरफ आकर्षित करती जाती हो लेकिन तुमने कभी भी मुझे कुछ भी नहीं करने दिया।

मैं- कमल मैं भी चाहती हूं कि मैं तुम्हारे साथ सेक्स करूं लेकिन तुम्हें पता है अभी मुझे कुछ और वक्त चाहिए क्या हम दोनों एक दूसरे के साथ में सेक्स किए बिना नहीं रह सकते?

कमल- मैंने यह बात तो नहीं कही कि मैं बिना सेक्स के नहीं रह सकता लेकिन हमारे कॉलेज में और भी तो लड़के हैं वह तो अपनी गर्लफ्रेंड को हमेशा ही चोदते हैं। एक तुम हो मैं सिर्फ मुट्ठ मार कर ही खुश रहता हूं और तुम मुझे अपनी तस्वीरें भेजती रहती हो। बस इतने से ही मुझे खुश होना पड़ता है।

मैं- मैं कम से कम तुम्हारे साथ लॉयल तो हूं और लड़कियां तो पता नहीं कहां कहां अपनी चूत मरवा रही हैं और ना जाने कितनो से वह प्रेग्नेंट हो चुकी हैं।

कमल- यह तो मुझे पता है कि तुम सिर्फ मुझसे ही बात करती हो और मुझसे ही प्यार करती हो।

मैं- फिर तुम इतने में ही खुश रहो तुम्हारा पानी तो हमेशा गिर जाता है।

कमल- हां मेरा पानी तो तुम हमेशा ही गिरा देती हो मैं संतुष्ट हो जाता हूं।

मैं- आज भेजूं तुम्हें अपनी गरमा गरम फोटो।

कमल- हां भेजी अब उसी से काम चलाना पड़ेगा और क्या कर सकते हैं। मेरे पास कोई रास्ता भी नहीं है क्योंकि आज ठंड भी बहुत हो रही है मैं रजाई के अंदर ही लेटा हुआ हूं।

मैं- तुम कुछ देरे फोन होल्ड पर रखो मैं तुम्हें थोड़ी देर में ही अपनी फोटो भेजती हूं और आज मैंने अपनी चूत के बाल भी साफ किए हैं तुम्हें बहुत अच्छा लगेगा।

कमल- तुम जल्दी से भेजो मैं फिलहाल फोन रखता हूं तुम थोड़ी देर बाद मुझे फोन कर लेना।

मैं- चलो ठीक है मैं तुम्हें थोड़ी देर में फोन करती हूं मैं तुम्हें अभी भेजती हूं।

कुछ देर बाद मैंने कमल को अपनी नंगी तस्वीर भेजी तो उसके बाद मैंने कमल को फोन किया।

कमल- आज तो तुम्हारा बदन बड़ा ही अच्छा लग रहा है और तुम्हारी चूत को देखकर तो मेरा पूरा मूड खराब हो गया। आज तो तुम्हारी चूत में एक भी बाल नहीं है।

मैं- आज सुबह ही मैंने अपने बालों को साफ किया है।

कमल- काश कि तुम मेरे पास होती तो मैं तुम्हारी चूत के अंदर अपनी उंगली को डाल देता और तुम्हारे पानी को चाटने लगता।

मैं- वह दिन भी नजदीक आ जाएगा जिस दिन तुम उंगली भी डाल पाओगे और अपने लंड को भी मेरी योनि में घुसा पाओगे।

कमल- देखते हैं वह दिन कब आता है मैं तो उसी दिन का इंतजार में हूं जिस दिन मैं तुम्हारी चूत मार पाऊंगा।

मैं- मुझे आज मेरी मम्मी की अलमारी के अंदर एक डिलडो मिला।

कमल- क्या बात कर रही हो क्या तुम्हारी मम्मी भी अपनी चूत मरवाने का शौक रखती हैं और क्या तुम्हारे पिताजी उन्हें संतुष्ट नहीं कर पा रहे।

मैं- पापा की बस की बात नहीं है वह तो खांस खांस कर ही किसी ना किसी दिन अपना दम तोड़ देंगे। मेरी मां की जवानी तो अब भी पूरी झलक रही है। ऐसा लगता है कि वह तो मुझे भी टक्कर दे रही हैं।

कमल- क्या बात कर रही हो लगता है तुम्हारी मां की ही चूत मारने पड़ेगी।

मैं- तो मैं तुम्हें अपनी मां का नंबर दे देती हूं तुम उनसे ही बात कर लेना।

कमल- तुम तो बात को कहां से कहां घुमा कर ले गई।

मैं- मेरी चूत से तो पानी भी छूटने लगा है।

कमल- एक काम करो तुम उस डिलडो को अपनी योनि में डाल दो तुम्हें बड़ा ही मजा आ जाएगा।

मैं- कोशिश तो कर रही हूं उसे अपनी चूत में डालने की लेकिन पहले मेरी योनि थोड़ा गिली हो तो उसके बाद ही मैं उसे अपनी योनि के अंदर ले लेती हू।

कमल- मेरा लंड भी पूरा खड़ा हो चुका है और ऐसा लग रहा है जैसे मेरा पानी बाहर की तरफ को निकलने वाला है।

मैं- मैंने भी अब धीरे धीरे उस डिलडो को अपनी योनि के अंदर ले लिया है और अब वह मेरी योनि के पूरे अंदर तक चला गया है। मुझे ऐसा लग रहा है जैसे कोई डंडा मेरी योनि के अंदर चला गया हो।

कमल- मैंने भी अपने लंड को हिलाना शुरू कर दिया और बड़ी तेजी से हिला रहा हूं। मुझे भी ऐसा लग रहा है जैसे मैं तुम्हारी चूत के अंदर अपने लंड को डाल रहा हूं।

मैं- मुझे ऐसा प्रतीत हो रहा है जैसे तुम मेरे ऊपर से लेटे हुए हो और मेरी योनि के अंदर अपने लंड को डाल रहे हो।

कमल- मैं भी तुम्हें अपने सामने फिल कर रहा हूं और ऐसा लग रहा है जैसे तुम्हारी चूत के अंदर मेरा लंड गया हुआ है पर मुझे तुम्हारी गांड बहुत ही ज्यादा पसंद है और तुम्हारे स्तन तो मुझे ऐसे लगते हैं जैसे मैं उन्हें सिर्फ चूसता ही रहूं।

मैं- मैं भी बड़ी तेजी से डिलडो को अपनी योनि के अंदर बाहर कर रही हूं और मेरी योनि से भी बड़ी तेजी से पानी बाहर की तरफ को निकाल रहा है। जानू मुझसे यह डिलडो बर्दाश्त नहीं हो रहा है ऐसा लग रहा है जैसे मैं इस नकली लंड को अपनी योनि के अंदर ही फंसा कर रखू। ऐसे ही बस इसे अपने अंदर ही समा लू।

कमल- रूप तुम्हारा तो जवाब ही नहीं है तुम तो हुस्न की मलिका हो और तुम्हारा हुस्न देख  कर तो मैं वैसे ही पिघल जाता हूं। यह डिलडो कितना खुशनसीब है जो तुम्हारी चूत के अंदर जा रहा है और तुम्हारी चूत के मजे ले रहा है। मैं तो अपने हाथ से ही अपने लंड को हिला रहा हूं और मजे ले रहा हूं।

मैं- तुम चिंता मत करो एक दिन जरूर आएगा जिस दिन तुम वाकई में मेरी यौवन का मजा ले सकोगे इंतजार का फल मीठा होता है तुम चिंता मत करो।

कमल- इतना भी कौन सा मीठा होता है कि अपने हाथ से ही मुठ मारते रहो और मुठ मार कर ही खुश रहो।

मैं- मैं भी तो अपनी उंगली से ही काम चला रही थी लेकिन आज मुझे मम्मी का डिलडो मिला इसलिए मैं उसे यूज़ कर रही हूं।

कमल- चलो कम से कम तुम्हें मजा तो आ रहा है मेरा भी गिरने वाला है। लगता है मुझे भी कोई नकली चूत लेनी पड़ेगी।

मैं- मेरा भी बहुत पानी निकलने लगा है मैं झड़ चुकी हूं और मुझे बहुत ही मजा आ रहा है।

कमल- मेरा भी माल गिर चुका है ठीक है रूप कल बात करते हैं क्योंकि अब मुझे बिल्कुल भी अच्छा नहीं लग रहा है और मुझे नींद भी बहुत ज्यादा आ रही है। ओके बाय लव यू कल बात करते हैं बेबी।

Tags: , , ,
error: