मोहल्ले की माल भाभी के साथ पहला फोन सेक्स

desi bhabhi, hindi sex kahani

पूजा भाभी मोहल्ले का एक नंबर का आइटम है। सबसे पहले मैंने ही उनके साथ फोन पर बात की थी। पूजा भाभी की गांड को देख कर सबके लंड का पानी बाहर की तरफ निकल जाता है। जब भी वह मोहल्ले में चलती हैं तो सारे मर्द अपनी नजरें उन पर ही  गढा लेते हैं लेकिन मैं बहुत ही खुशनसीब हूं कि मैंने पहली बार पूजा भाभी से बात की। वह मोहल्ले में किसी की तरफ भी देखती नहीं है मुझे उन्होंने अपना नंबर खुद ही दिया। मैं जब रात को अपने कमरे में लेटा हुआ था तो मैंने पूजा भाभी को फोन किया। जब मैं उन्हें फोन कर रहा था तो मेरे अंदर से एक अलग ही प्रकार की कपकपी सी निकल रही थी और मुझे लग रहा था कि मैं उनके साथ क्या बात करूंगा लेकिन जैसे ही उन्होंने फोन उठाया तो मैंने भी उनसे बात कर ही ली।

भाभी- कौन बोल रहा है?

मैं- भाभी में रोशन बोल रहा हूं।

भाभी- हां रोशन बोलो क्या बोलना है? तुमने इतनी रात को मुझे फोन किया क्या कोई जरूरी काम था?

मैं- नहीं जरूरी काम तो नहीं था बस ऐसे ही आपसे बात करने का मन था।

भाभी- बोलो कुछ बोलना है तो बोलो?

मैं- नहीं कुछ नहीं बोलना।

उसके बाद मेरी गांड फट गई और मैंने तुरंत ही फोन काट दिया। मुझसे बिल्कुल भी बात नहीं हुई मैंने जब फोन काटा तो उसके 10 मिनट बाद पूजा भाभी ने मुझे फोन कर दिया।

भाभी- रोशन तुमने मुझे फोन किया था लेकिन तुमने फोन काट दिया। मुझे समझ नहीं आया कि तुमने मुझे क्यों फोन किया। क्या तुम्हें मुझसे कोई काम है?

मैं- भाभी तुमसे कोई काम नहीं था बस मेरा मन था तो सोचा तुम्हें फोन कर लू।

भाभी- अरे जब तुम्हारा मन है तो तुम बात करो, तुम फोन क्यों काट रहे हो?

मैं- मेरी हिम्मत ही नहीं हो रही है आप के साथ बात करने की।

भाभी- हिम्मत नही हो रही तो हिम्मत तो तुम्हें लानी पड़ेगी कल को तुम्हारी शादी होगी तो क्या तुम अपने कमरे में दुबके रहोगे।

मैं- अरे नहीं मैं अपने कमरे में क्यों रहूंगा।

भाभी- तो फिर मर्द के तरीके से बात करो और अपनी छाती को चौड़ा कर के रखो।

मैं- आप मुझे बहुत अच्छी लगती हैं और जब भी मैं आपको देखता हूं तो मेरे अंदर से एक अच्छी फीलिंग आती है।

भाभी- मुझे सब पता है तुम्हारे अंदर से किस प्रकार की फीलिंग आती है तुम साले सब के सब एक जैसे ठरकी हो।

मैं- मैं उस प्रकार का नहीं हूं आप मेरे बारे में गलत सोच रही हैं।

भाभी- मुझे सब पता है तुमने मुझे क्यों फोन किया है।

मैं- आपको क्या पता है?

भाभी- मुझे मालूम है कि तुम्हें मुझसे बात करनी है और तुम्हारी गांड फट रही है इसलिए तुम मुझसे बात नहीं कर रहे हो।

मैं- मेरी कोई गांड नहीं फट रही बस ऐसे ही मैं आपसे बात करना चाहता था तो आपको फोन कर दिया।

भाभी- सीधा ही मुद्दे पर आओ और मजे की बात करो। इधर उधर की फालतू की बातें मुझसे मत करो।

मैं- भाभी आपकी गांड तो बहुत ही सेक्सी है आपने अपनी गांड को इतना बड़ा कैसे कर लिया?

भाभी- मेरी गांड मेरे पति ने बड़ी की है। वह हमेशा ही सरसों का तेल अपने लंड पर लगा लेते हैं और मेरी गांड के अंदर डालकर मेरी गांड मारते हैं। वह कुछ समय से कहीं बाहर गए हुए हैं इसलिए मुझे काफी समय से उन्होंने डोज नहीं दिया।

मैं- क्या वह आपकी गांड हमेशा ही मारते हैं।

भाभी- उनका लंड तो घोड़े के जैसा है। जब वह मेरी गांड के अंदर डालते हैं तो मुझे ऐसा लगता है जैसे मैं किसी जन्नत में पहुंच गई हूं।

मैं- उनका कितना मोटा लंड है।?

भाभी- क्यों तुम्हें भी अपनी गांड के अंदर लेना है।

मैं- अरे मैं अपनी गांड में क्यों लूंगा। गांड में तो मैं आपके अपना लंड डालूंगा।

भाभी- अच्छा तो तुम मेरी गांड के अंदर अपने लंड को डालोगे। मेरी गांड में लंड डालने के लिए हिम्मत चाहिए जो कि तुम्हारे अंदर नहीं है।

मैं- मेरे अंदर बहुत ज्यादा हिम्मत है। मेरा भी लंड कोई छोटा नहीं है।

भाभी- तुम्हारा कितना मोटा और बड़ा है?

मैं- मेरा 9 इंच का है और बहुत ही मोटा है।

भाभी- चलो तुम मुझे किसी दिन अपने लंड के दर्शन करवा देना।

मैं- आपकी गांड के भी कभी आप दर्शन करवा दीजिए हमें बहुत ही मजा आ जाएगा।

भाभी- मैं सबको ही अपनी चूत और गांड के दर्शन नहीं करवा सकती क्योंकि मोहल्ले में सब लोग मुझे बदनाम कर देंगे। मैंने तुम्हें ही अपना नंबर दिया है और तुम मेरे नंबर किसी को कभी मत देना।

मैं- भाभी आप मुझ पर पूरा भरोसा कीजिए मैं आपका नंबर किसी को भी नहीं दूंगा।

भाभी- तुमने आज तक किसी की चूत मारी है।

मैं- हां मैंने बहुत लड़कियों को आज तक चोदा है।

भाभी- तुम बहुत ही सीधे लगते हो लेकिन बड़े ही मादरचोद किस्म के लड़के हो।

मैं- मैं बहुत ही मादरचोद हूं और मैं किसी को भी नहीं छोड़ता यदि आप भी मेरे सामने होती तो मैं आपकी भी गांड के घोड़े खोल कर रख देता।

भाभी- चलो तुमसे मिलना पड़ेगा फिर देखते हैं तुम कितने घोड़े खोलते हो।

मैं- आप आ जाओ किसी दिन उस दिन मै आपको बताता हूं कि मेरा लंड कितना बड़ा और मोटा है।

भाभी- मैं तो फिलहाल डिलडो से काम चला रही हूं। कुछ दिनों पहले ही मैंने ऑनलाइन ऑर्डर करवाया था और मुझे बहुत ही अच्छा लग रहा है जब मैं उसे अपनी योनि के अंदर लेती हूं।

मैं- क्या आपने अब भी वह डिलडो अपने हाथ में पकड़ा हुआ है।

भाभी- अरे नहीं मैंने तो उसे अपनी चूत में ले रखा है और मुझे बड़ा ही अच्छा लग रहा है।

भाभी- तुम भी अपने लंड को अपने हाथ में ले लो और हिलाना शुरू कर दो।

मैं- भाभी आपसे बात करते करते ही मेरा एक बार वीर्य गिर चुका है।

भाभी- अच्छा तो तुम्हारा एक बार वीर्य गिर भी चुका है।

मैं- हां मेरा एक बार वीर्य गिर चुका है।

भाभी- मैंने तो अब भी अपने योनि के अंदर डिलडो को लेकर रखा है और मैं उसे अंदर बाहर कर रही हूं। जब मैं उसे अंदर बाहर कर रही हूं तो ऐसा प्रतीत हो रहा है जैसे मेरा पानी बाहर की तरफ को निकल रहा है।

मैं- भाभी मुझे भी आपकी गांड दिखाई दे रही है और ऐसा लग रहा है जैसे मैं आपकी बड़ी बड़ी गांड के अंदर अपने लंड को डाल रहा हूं।

भाभी- तुम ऐसे ही धक्के मारते रहो और मैं भी अपनी गांड को तुम्हारी तरफ कर रही हूं।

मैं- मैं बड़ी तेज झटके मार रहा हूं और मुझे भी बहुत अच्छा महसूस हो रहा है।

भाभी- तुम्हें पता है मेरी गांड का साइज क्या है?

मैं- आपकी गांड का साइज कम से कम 40 होगा लेकिन आपकी कमर तो बहुत ही पतली है।

भाभी- तुम्हें पता है मैं 20 साल की उम्र से अपने गांड मरवा रही हू। मेरा कॉलेज में एक बॉयफ्रेंड हुआ करता था उसका लंड भी घोड़े जैसा था और वह मेरी गांड के अंदर अपने लंड को डालता था तो मुझे दर्द होता था। वह हमेशा ही मुझे कहता तुम्हारी गांड मारने में बड़ा मजा आता है।

मैं- भाभी अब मुझसे नहीं रहा जा रहा है मैं बाथरूम में जा रहा हूं।

भाभी- तुम बाथरूम में जाकर अपना माल वही गिरा दो।

मैं-  मुझे तो आपकी बड़ी बड़ी गांड के ऊपर अपने माल को गिराना है।

भाभी- अपनी आंखें बंद करो और तुम्हें मेरी बड़ी बड़ी गांड अपने सामने दिखाई देगी।

जब मेरा माल बाथरूम मे गिरा तो मुझे बहुत अच्छा लगा। मैं भाभी से फोन पर बात कर रहा और वह भी अपनी चूत के अंदर अपने डिलडो को लेकर बैठी हुई थी उन्हें भी बहुत आनंद आ रहा था। उस दिन मेरी बात भाभी से हो पाई और मैंने कई महीनों तक भाभी से इस प्रकार की बातें की लेकिन उन्होंने कभी भी मुझे अपनी गांड के दर्शन नहीं करवाए अभी तक वह मुझे तरसा रही हैं। मैं इस इंतजार में बैठा हूं कि किसी दिन वह मेरे पास आएंगी और कहेंगी कि आज तुम मेरी गांड मार लो। फिलहाल तो मैं फोन पर बात करके ही संतोष कर लेता हू और इसी वजह से अभी तक मेरा नंबर नहीं आ पाया है लेकिन मैं अभी इंतजार कर रहा हूं और फिलहाल में उनसे फोन सेक्स कर के ही काम चला लेता हूं। उसमें भी मैं संतुष्ट हूं क्योंकि कुछ नहीं से तो कुछ भला ही सही है। जब भी भाभी को मुझसे फोन पर बात करनी होती है तो वह मुझे मिस कॉल दे दिया करती हैं। मैं ही उन्हें कॉल बैक करता हूं और उसके बाद में उनसे सिर्फ अश्लील बातें करता हूं।

Tags: , , ,
error: