दीदी की बडी गांड वाली सहेली

Kamukta, hindi sex talk: मैं आपको अपने बारे में परिचय देता हूं मैं चंडीगढ़ का रहने वाला हूं मेरा नाम मोहन है पिछले वर्ष ही मैंने शादी की थी। मेरी शादीशुदा जिंदगी अच्छी नहीं चल रही मेरी पत्नी के साथ में अच्छे से सेक्स नहीं कर पाता क्योंकि उसे सेक्स में बिल्कुल भी रुचि नहीं है और मैं उसे सेक्स के लिए कहता हूं तो वह मुझसे झगड़ने लगती है इसीलिए मुझे किसी और की जरूरत थी जो कि मेरी सेक्स की इच्छा को पूरा कर पाती। मेरी बहन की दोस्त मीनाक्षी मुझे बहुत पसंद है मीनाक्षी के साथ मैं हमेशा से ही मजाक किया करता था और मुझे उसके साथ बात करना बहुत अच्छा लगता लेकिन मीनाक्षी की शादी हो चुकी है और उसका नंबर मेरे पास नहीं था ना ही उससे मेरा कोई संपर्क हो पाता था। मेरी बहन जो कि कुछ दिनों के लिए घर पर आई हुई थी मैंने उसे कहा कि क्या तुम्हारे पास मीनाक्षी का नंबर है? वह कहने लगी तुम मीनाक्षी के नंबर का क्या करोगी मैंने अपनी बहन को कहा तुम्हे यदि मुझे मीनाक्षी का नंबर देना है तो तुम दे दो। मेरी बहन ने मुझे मीनाक्षी का नंबर दिया तो मैं उससे बात करने के लिए बडा उत्सुक था लेकिन मुझे समय नहीं मिल पाता था। मैं हमेशा ही सोचता मैं मीनाक्षी को आज फोन करूंगा लेकिन कभी भी मुझे समय नहीं मिल पाता था इसलिए मैं मीनाक्षी से बात नहीं कर पाता था परंतु मैंने समय निकालकर एक दिन मीनाक्षी से बात कर ही ली। जब मैंने मीनाक्षी को फोन किया तो शायद उसे भी मेरे साथ फोन सेक्स करने का मन होने लगा और इतने समय बाद हम लोगों ने बात की और फोन सेक्स कर के हम दोनों ही खुश थे। मीनाक्षी को भी अच्छा लगा और मुझे भी बहुत मजा आया उसके पति अपने काम के सिलसिले में बाहर गए हुए थे वह अकेली थी वह मुझसे बात कर रही थी तो मुझे भी बहुत अच्छा लग रहा था।

मैं- मीनाक्षी क्या कर रही थी?

मीनाक्षी- कौन बोल रहा है मैंने पहचाना नहीं आवाज तो जानी पहचानी लग रही है। ऐसा लग रहा है शायद तुमसे मेरी बात पहले भी हुई है लेकिन मैंने तुम्हें अभी तक पहचाना नहीं है?

मैं- मीनाक्षी तुमने अभी तक नहीं पहचाना मेरा तो दिल ही टूट गया तुम मुझे पहचान नहीं पाई सालों बाद मैंने तुम्हें फोन किया मुझे लगा तुम मुझे पहचान लोगी। मुझे बड़ी खुशी होगी जब मैं तुमसे बात करूंगा तो तुम्हें भी बहुत अच्छा लगेगा।

मीनाक्षी- तुमसे बात करने में अच्छा लग रहा है लेकिन मैं पहचान नहीं पा रही हूं इतने समय हो चुका है शादी करके उसके बाद मेरी किसी से बात नहीं हो पाई लेकिन तुम ही मुझे बता दो कि तुम कौन बोल रहे हो उसके बाद हम लोग अच्छे से बात कर पाए।

मैं- मै मोहन बोल रहा हूं तुमने मुझे पहचाना नहीं मुझे इस बात कि नाराजगी तुमसे हमेशा रहेगी।

मीनाक्षी- तुम कैसी बात कर रहे हो भला कोई अपने चाहने वालों से भी नाराज होता है मैं तुमसे बिल्कुल भी नाराज नहीं हूं और ना ही मैं चाहती हूं कि तुम मुझसे नाराज हो। मुझे बहुत खुशी है कि तुम इतने साल बाद मुझसे बात कर रही है हालांकि मुझे उम्मीद नहीं थी कि तुम से मेरी इतने सालों बाद बात हो पाएगी तुमने मेरा नंबर किस से लिया और इतने समय बाद तुम मुझसे बात कर रहे हो उसके पीछे जरूर कोई कारण होगा?

मैं- तुम्हारी भी शादी हो चुकी है और मेरी शादी हो चुकी है अब सीधे तौर पर ही बात करे तो ज्यादा अच्छा रहेगा क्योंकि तुम से घुमा फिरा कर बात करना शायद मुझे अच्छा नहीं लगेगा और ना ही तुम्हें पसंद आएगा इसलिए मैं बताता हूं कि मैंने तुम्हारा नंबर अपनी दीदी से लिया। वह पहले तो मुझे तुम्हारा नंबर नहीं दे रही थी लेकिन जब उस ने तुम्हारा नंबर दिया तो मैंने तुमसे बात की और इतने सालों बाद तुम्हारी आवाज मे आज भी वही जादू है जो कि पहले था।

मीनाक्षी- तुम जैसे बिल्कुल बदले नहीं हो तुम भी तो बिल्कुल पहले की तरह ही हो और वैसे ही हो मुझे तो लग रहा है कि शायद मेरी तुमसे जैसे कल ही बात हुई हो मुझे बिल्कुल नहीं लग रहा है कि जैसे हम लोग इतने सालों बाद बात कर रहे हैं लेकिन अब बात कर के मुझे बहुत अच्छा लग रहा है।

मैं- मीनाक्षी तुमसे बात करना तो बहुत अच्छा लग रहा है और इतने सालों से मैं सपना देख रहा था कि तुम से किसी दिन तो बात होगी लेकिन अपनी शादीशुदा जिंदगी से मैं बहुत तंग आ चुका हूं और आज चाहता हूं कि तुम से दिल की बात करू।

मीनाक्षी- मुझे भी तुमसे बात करना अच्छा लग रहा है और मैं भी अपनी शादीशुदा जिंदगी से खुश नहीं हूं मैं भी बिल्कुल तुम्हारी तरह ही हूं मुझे ऐसा लग रहा है जैसे हम दोनों एक ही नाव में सवार है और मैं उम्मीद करती हूं कि आज तुम से मे बात कर रही हू तो हम दोनों एक दूसरे को खुश कर देंगे।

मैं- मैं तो तुम्हारे बदन की गर्मी को अभी तक भूल नहीं पाया हूं जब तुम मेरे बगल में बैठती थी मेरा लंड तन कर खड़ा हो जाता था। मैं अपनी पत्नी के साथ ना जाने कब से अच्छा सेक्स संबंध बना भी नहीं पाया हूं मैं सोचता हूं कि काश तुम मुझे मिल जाती तो तुम्हारे साथ ही मैं सेक्स कर लेता। तुम्हारी भी शादी हो गई थी और इतने समय बाद बात कर के मुझे बहुत अच्छा लग रहा है।

मीनाक्षी- मै बात कर के बहुत खुशी हो रही है और ऐसा लग रहा है जैसे तुम से बात करती रहू मेरी चूत में खुजली हो रही है और मुझे लग रहा है कि तुम मेरी चूत की खुजली को मिटा सकते हो।

मैं- हां मीनाक्षी मैं तुम्हारी चूत की खुजली को मिटा सकता हूं लेकिन उसके लिए मेरे लंड को अपने मुंह में लेना होगा अब तो मेरे लंड को अपने मुंह के अंदर लो तुम्हे बहुत अच्छा लगेगा और मुझे बहुत मजा आएगा।

मीनाक्षी- मेरे पास अब और कोई रास्ता भी तो नहीं है तुम्हारे लंड को अपने मुंह में ले रही हूं और मुझे तुम्हारे लंड को चूसने में बहुत मजा आ रहा है ऐसा लग रहा है जैसे तुम्हारे लंड को बस चूसती ही रहू तुम्हारा लंड वाकई में बड़ा कमाल का है।

मैं- मीनाक्षी मुझे तुम्हारे स्तनों को चूसना है? मेरे जब तुम्हारे स्तनो को चूस रहा हू तो मजा आ रहा है। मै हमेशा ही सोचता था कि क्या तुम्हारे स्तन अपने मुंह में ले पाऊंगा लेकिन आज जिस प्रकार से तुम से मेरी बात हो रही है मुझे पूरी उम्मीद है कि जल्द ही हम लोग एक दूसरे के साथ सेक्स का मजा लेंगे और फिलहाल तो मै तुम्हारे स्तनो को अपने मुंह में लेकर उनका रसपान कर रहा हूं मुझे बड़ा ही आनंद आ रहा है तुम्हारे स्तन बड़े सुडौल और टाइट है।

मीनाक्षी- तुम्हारा लंड बड़ा मोटा है और उसे चूस कर बहुत अच्छा लग रहा है मैंने अपनी चूत मैं अपनी उंगलियों को डाल लिया है क्योंकि मेरी चूत से कुछ ज्यादा ही पानी बाहर निकल रहा था क्या तुम भी अपने लंड को हिला रहे हो?

मैं- हां मीनाक्षी में भी अपने लंड को हिला रहा हूं मुझे बहुत ही अच्छा लग रहा है जिस प्रकार से मैं तुम्हारे साथ मजे ले रहा हूं मैं अपने लंड को बड़ी तेजी से हिला रहा हूं। तुम्हारा चेहरा बार-बार मेरे सामने आ रहा है मुझे आज भी कुछ पुरानी तस्वीर तुम्हारी याद है जो कि मैंने मुठ मारकर सफेद कर दी थी और आज भी मुझे बहुत अच्छा लगता है जब भी मैं तुम्हारी उन तस्वीरों को देखता हूं। क्या तुम्हारी गांड आज भी उतनी मोटी है जितनी उस वक्त थी?

मीनाक्षी- हां आज भी मेरी गांड मोटी है मुझे तुम्हारे लंड को अपनी चूत मै लेने में मजा आ रहा है और मैं भी अपनी चूत के अंदर बाहर लंड को ले रही हूं। मैंने अपनी उंगली से अपनी चूत से पानी बाहर निकाल लिया है और फिलहाल मैं अपने अंदर केले को डाल रही हूं। मुझे केले को अपनी चूत में डालने में मजा आ रहा है मुझे बहुत आनंद आ रहा है और ऐसा लग रहा है जैसे केले को अंदर बाहर लेती रहूं। मै बहुत खुशी हो रही है तुमसे इतने सालों बाद ऐसी चटपटी बातें हो रही हैं।

मैं- मजा तो मुझे भी आ रहा है और ऐसा लग रहा है जैसे अपने वीर्य को तुम्हारे मुंह मै गिरा दू मेरा वीर्य वैसे भी बाहर की तरफ निकलने वाला है तुम कहो तो अपने वीर्य को तुम्हारे मुंह के अंदर ही गिरा दू।

मीनाक्षी- हां तुम अपने वीर्य को मेरे मुंह के अंदर ही गिरा दो मैने मुंह को भी खोल लिया है मुझे बहुत खुशी होगी तुम्हारा वीर्य मेरे मुंह के अंदर गिरेगा। मजा आ गया तुम्हारे वीर्य को अपने मुंह में लेने में कसम से बहुत स्वादिष्ट है और ऐसा लग रहा है जैसे कि तुम्हारे लंड को बस चूसती ही रहूं।

मैं- मुझे तुमसे बात करने में बहुत अच्छा लगा तुमसे मैं कभी और बात करूंगा आज मुझे बहुत थकान हो रही है अभी मैं फोन रखता हूं।

Tags: , , ,
error: