बच्चे मुठ मारो और सो जाओ

Antarvasna, desi sex chat मैं कॉलेज में पढ़ने वाला 23 वर्ष का छात्र हूं मेरा नाम सुमित है मेरे जीवन बिल्कुल सुना है। मेरे पिताजी के कारण में कभी भी किसी के बारे में सोच ही नहीं पाया। अब मुझे लगता है कि मेरे दोस्तों ने ना जाने कितने लोगों के साथ सेक्स किया है वह सेक्स की फीलिंग से ही खुश हो जाते हैं। उन्होंने ना जाने कितनी लडकियो को चोदा होगा परंतु मेरे पिताजी की वजह से मुझे आज तक अभी तक मुझे चूत नहीं मिल पाई। वह मुझे कहते हैं कि तुम कॉलेज के बाद घर आ जाया करो, दोस्तों आप ही बताइए क्या यह सही है यदि किसी को अपनी आजादी नहीं मिलेगी तो वह कैसे जीएगा। मुझे भी हक है कि मैं किसी की चूत मारू और अपनी जवानी को सफल बनाऊ लेकिन मेरे पिताजी की वजह से यह हो नहीं पाया। आज मेरी उम्र 23 वर्ष हो चुकी है लेकिन 23 वर्ष की उम्र में भी मैंने आज तक किसी के साथ सेक्स नहीं किया है सिर्फ मैं हस्तमैथुन कर ही काम चलाता हूं। मैं पोर्न मूवी देखकर अपना समय बिताता हूं और उसे ही देखकर मुट्ठ मारा करता हूं लेकिन मुझे भी चाहिए कि कोई मेरी जिंदगी में हो जो कि मुझे खुश रखे और मेरी इच्छा को पूरा कर सके। हस्तमैथुन करने में मुझे बड़ा मजा आता है लेकिन जब भी मैं पोर्न मूवी में किसी की चूत को देखता हूं तो मैं खुश हो जाया करता हूं। यह गनीमत है कि मुझे मालती भाभी फेसबुक पर मिल गई और मालती भाभी की हॉट तस्वीर देखकर मैंने उनको फ्रेंड रिक्वेस्ट भेज दी। उन्होंने मुझे रिप्लाई कर दिया उनके बड़े बड़े स्तनों को देखकर और उनकी बिकनी वाली फोटो देखकर मैंने 10 बार मुट्ठ मार ही दिया था। जब उनसे मेरी फेसबुक पर चैटिंग के द्वारा बात हुई तो वह मै आपको बताता हूं कैसे हम दोनों के बीच चटपटी बातें हुई।

मैं- हेलो मालती भाभी कैसी हो?

मालती भाभी- मैं तो ठीक हूं लेकिन बच्चे तुम कौन हो।

मैं- भाभी मैं बच्चा नहीं हूं मैं 23 साल का नौजवान युवक हूं आपको क्या मैं बच्चा लग रहा हूं।

मालती भाभी- तुम जैसे बच्चों को मे अच्छे से जानती हूं वह कैसे होते हैं। तुम्हारी उम्र कौन सी इतनी भी ज्यादा है तुम क्या मेरी इच्छा पूरी कर सकते हो।

मैं- हां मालती भाभी में आपकी इच्छा पूरी कर सकता हूं लेकिन आप मुझे बच्चा मत कहिए मुझे अच्छा नहीं लग रहा है। मैं 23 साल का नौजवान गबरु जवान हूं।

मालती भाभी- ठीक है मैं भी तो देखूं तुम कितने गबरु हो चलो तुमसे बात कर के पता चलेगा कि तुम कितने गबरु हो मुझे तुम एक हफ्ते बाद फोन करना।

एक हफ्ते बाद जब मैंने मालती भाभी को फोन किया तो उनकी मेरे साथ बात हुई।

मालती भाभी- तुम बड़े जबान के पक्के हो तुमने ठीक एक हफ्ते बाद ही मुझे फोन कर दिया।

मैं- अरे भाभी आपकी तस्वीर जब से देखी है तब से तो रहा ही नहीं जा रहा है। मैं बहुत ज्यादा बेताब था आपसे बात करने के लिए इसलिए तो आपको फोन किया।

मालती भाभी- मैं अभी आई हूं मुझे कपड़े बदलने दो मैं तुम्हें अभी फोन करती हूं।

मैं- मालती भाभी आप क्या मुझे अपनी तस्वीर नहीं भेज सकती। मैं बेताब हूं आप अपने बदन को मेरे सामने दिखाएं।

मालती भाभी- बच्चे तुम रहने दो तुम थोड़ा इंतजार करो मैं तुम्हें अभी फोन करती हूं।

मैं- ठीक है भाभी आप मुझे फोन कर लीजिए मै आपके फोन का इंतजार कर रहा हूं।

आधे घंटे बाद मालती भाभी ने मुझे फोन किया और उसके बाद तो मालती भाभी भी पूरे मूड में आ चुकी थी। उन्होंने ऐसी ऐसी बातें मुझसे की मैंने आज तक अपने सपने में सोचा ना था वह जैसे मेरे सामने आ गई हो उन्होंने बिल्कुल वैसी ही मेरे साथ बातें की और उनकी गाली बडी मस्त थी उनकी गाली सुनने में मुझे ऐसा लगता जैसे कि मैं अपने लंड को लेकर उनके पास ही चला जाऊंगा और उनकी चूत के अंदर डाल दू।

मालती भाभी- हेलो बच्चे क्या तुम सो गए?

मैं- भाभी मैं बच्चा नहीं हूं मेरा नाम सुमित है और आप मुझे बच्चा कैसे कह रही हैं।

मालती भाभी- तुम्हारे जैसे तीन तीन लंड में अपनी चूत में लेती हूं और तुम मुझे कह रहे हो कि तुम्हें बच्चा ना कहू, मैंने अपनी चूत में तीन लंड एक साथ लिए है।

मैं- अच्छा भाभी आपने तीन लंड अपनी चूत में लिए है लेकिन मेरा लंड ही काफी है जब आप उसे लेंगी तो आपको पता चल जाएगा कि मैं कौन से खेत की मूली हूं और आपकी चूत में पूरी मूली घुसा दूंगा।

मालती भाभी- तुम्हारी बातों से तो लग रहा है कि तुम बड़े ही मादरचोद हो क्या तुमने अपनी मां को भी चोदा है।

मैं- मैंने किसी की चूत नहीं मारी है मैं सिर्फ हस्तमैथुन कर के अपना काम चलाता हूं इसीलिए तो मेरे अंदर जो आग है उसे मैं बाहर निकलना चाहता हूं। आप जैसी भाभी को जब मैं देखता हूं तो मेरी आग और भी ज्यादा बढ़ जाती है।

मालती भाभी- अच्छा तो तुम्हारी आग और भी ज्यादा बढ़ जाती है तुम्हारे अंदर इतनी ज्यादा चर्बी है लगता है तुम्हारे लंड को अपने गले के अंदर तक लेना पड़ेगा तभी तुम्हें पता चलेगा, वैसे तुम हो तो मादरचोद तुम्हारी मां को जब तुम्हारे पापा ने चोदा होगा तो तुम्हारी मां की चूत से तुम कैसे निकले।

मैं- भाभी यह सब छोड़ो मैं किसकी चूत से कैसे निकला लेकिन मुझे तो आपकी चूत में उंगली करने में मजा आ रहा है काश आपकी चूत में भी मार सकता। तब मैं आपको बताता कि मैं कहां से निकला हूं।

मालती भाभी- चलो मैं फोन रख रही हूं अब बहुत बाते हो गई मुझे बहुत नींद आ रही है तुम मुझे सोने दो।

मैं- मालती भाभी क्यों मेरा दिल चकनाचूर कर रही हो मुझे तुमसे बात करनी है मुझे तुमसे बात करके अच्छा लग रहा है मेरे लंड मेरी पैंट से बाहर की तरफ आने लगा है।

मालती भाभी- अच्छा तो तुम्हारा लंड बाहर निकलने लगा है तुम्हारे अंदर इतनी ज्यादा गर्मी है क्या?

मैं- हां भाभी मेरे अंदर बहुत गर्मी है आप मेरी गर्मी को बुझा दो ना आप मुझे यह बताओ आपके स्तन कितने बड़े हैं।

मालती भाभी- मेरे स्तनों के अंदर तुम्हारा पूरा मुंह को आ जाएगा, मेरे स्तनों का साइज 38 है और मेरी गांड 40 नंबर की है तभी तो मैं कह रही हूं तुम्हारे बस की बात नहीं है तुम रहने दो।

मैं- भाभी रुको अब मेरे दिल पर बात लग चुकी है मुझे बहुत तकलीफ हो रही है मैं आपको अपने लंड की अभी तस्वीर भेजता हूं और आपको दिखाता हूं मेरा लंड कैसा दिखता है।

मालती भाभी- तुम्हारा लंड तो बड़ा मोटा है अब तुमसे बात करनी ही पड़ेगी। लगता है तुम्हें अब मजा देना ही पड़ेगा।

मैं- भाभी आपको क्या लग रहा था मालती भाभी मुझे लग रहा था कि तुम्हारा लंड छोटा सा होगा और तुम बच्चे हो लेकिन तुम्हारा लंड देखकर मुझे लगा कि तुमसे बात की जा सकती है।

मैं- कसम से मजा आ जाएगा जब आप मुझसे बात करेंगे।

मालती भाभी- मैं तुमसे एक शर्त पर बात करूंगी कल तुम्हें मेरा रिचार्ज करना पड़ेगा।

मैं- हां मैं आप का रिचार्ज करवा दूंगा।

मालती भाभी-  मेरे और भी आशिक हैं उनके पास मुझे जाना पड़ता है और उन्हें अपनी चूत के मजे देने पड़ते हैं। सालों ने मेरी गांड मार मार कर इतनी बड़ी कर दी है कि मुझसे अच्छे से चला भी नहीं जाता लेकिन जब मेरी गांड के अंदर कोई लंड डालता है तो बड़ा मजा आ जाता है।

मैं- अच्छा तो आपकी चूत के अंदर वह लोग लंड डालते हैं और आपकी गांड भी मारते हैं। कभी हमारे लंड को भी अपनी गांड में ले लो हमारा लंड आपके लिए तड़प रहा है।

मालती भाभी- जब सही समय आएगा तो जरूर मैं तुम्हारे पास आऊंगी और तुम्हें मजे दूंगी।

मैं- अब आपका ही इंतजार कर रहा हूं कि कब आप आए और कब आप मुझे मजे दें। मालती भाभी आपको मानना पड़ेगा आपकी चूत बड़ी लाजवाब है।

मालती भाभी- चलो मैं तुम्हें अपनी चूत की तस्वीर भेजती हूं तुम भी मुठ मारो और आराम से सो जाओ।

मैं- हां भाभी जल्दी से भेजो ना मैं भी आपकी चूत और आपके पूरे बदन को देखना चाहता हूं आप कैसी लगती हैं।

मालती भाभी- लो भेज दी अब देख लो और आराम से सो जाओ।

जब मालती भाभी ने मुझे अपने पूरे नंगे बदन की तस्वीर भेजी तो उनके बड़े और लटकते हुए स्तन और उनकी चूत को देखकर मैं दंग रह गया। उनकी चूत का भोसड़ा बना हुआ था और उनके स्तन इतने बड़े थे कि ऐसा लग रहा था कि जैसे तकिया बना कर सो जाओ लेकिन मैंने उनकी चूत देखकर मुठ मारी और उसके बाद में सो गया। मेरी इच्छा तो पूरी हो चुकी थी लेकिन मैं मालती भाभी की चूत मारने के लिए बेताब था।

Tags: , , ,
error: