सेक्सी बाते सजनी संग

Antarvasna, sex stories in hindi:  मेरे और संजना के बीच प्यार था लेकिन किसी वजह से हम दोनों अलग हो गए। संजना के पापा का ट्रांसफर आगरा से गुवाहाटी हो गया अब हम दोनों एक दूसरे से बहुत दूर थे लेकिन मुझे लगता था कि शायद मैं संजना से दोबारा बात कर सकता हूं। मैंने संजना से बात नहीं की क्योंकि संजना और मेरे बीच किसी गलतफहमी की वजह से दरार पैदा हो गई थी। एक दिन मैं अपने घर से अपनी मोटरसाइकिल में निकल ही रहा था तभी मुझे मेरा दोस्त बंटी दिखाई दिया बंटी ने मुझे कहा संदेश तुम कहां जा रहे हो? मैंने उसे कहा मैं तो अपने मामा जी के घर जा रहा हूं। संदेश मुझे कहने लगा काफी समय बाद तुमसे मुलाकात हुई है मैंने बंटी को कहा अब तुम मुझे मिलते ही नहीं हो। वह मुझे कहने लगा यार तुम तो जानते ही हो मेरे पास समय नहीं होता है इसलिए मैं तुमसे मिल नहीं पाया मैंने बंटी को कहा अच्छा तो मुझे तुम यह बताओ तुम आजकल क्या कर रहे हो? बंटी कहने लगा कुछ भी तो नहीं बस ऐसे ही अपने दोस्तों के साथ अपनी दुकान चला रहा हूं। बंटी ने कुछ समय पहले एक दुकान खोली उसने अपने किसी दोस्त के साथ मिलकर वह दुकान खोली लेकिन उसमें उसका नुकसान ही हो रहा था। बंटी मुझे कहने लगा मेरा काफी नुकसान हो रहा है तुम मुझे बताओ कि मुझे क्या करना चाहिए?  मैंने बंटी कि मदद की तो बंटी को भी शायद अपनी गलती का पछतावा हुआ। बंटी ने एक दिन मुझे अकेले में बुलाया बंटी ने उस दिन मुझे बताया उसने ही मेरे और संजना के बीच दरार पैदा करवाई थी जिस वजह से संजना मुझसे दूर हो गई। यह बात सुनकर मैं बंटी पर गुस्सा हुआ लेकिन अब बंटी पर गुस्सा होने का मेरा कोई फायदा नहीं था क्योंकि सब कुछ तो बदल चुका था। मैंने बंटी को कहा बंटी तुम्हें ऐसा नहीं करना चाहिए था लेकिन बंटी की गलती की सजा मुझे भुगतनी पड़ी काफी समय तक मैं मानसिक तनाव में रहा परंतु मैंने बंटी को कहा तुम्हें यह सब कुछ अब ठीक करना पड़ेगा। बंटी ने संजना को फोन किया और उसने सब कुछ संजना को बताया संजना को भी लगा कि इसमें मेरी कोई गलती नहीं है। संजना और मैं फोन पर बात करने लगे हम दोनों फोन पर एक दूसरे से बात करते तो हम दोनों को ही अच्छा लगता।

मैं- संजना अब हमारे बीच में सब कुछ ठीक हो चुका है यह सब हम दोनों की एक गलतफहमी की वजह से हुआ जिसकी वजह से हम दोनों के रिश्ते में दरार पैदा हुई तुम मुझसे अलग हो गई।

संजना- देखो संदेश इस बारे में हम दोनों को ही भूल जाना चाहिए अब हमें आगे के बारे में सोचना चाहिए आगे हम लोगों को क्या करना चाहिए। हम लोगों ने एक अच्छा समय बर्बाद कर दिया हम दोनों का रिलेशन कितने अच्छे से चल रहा था लेकिन उसी एक गलती की वजह से हम दोनों ने ही बर्बाद कर दिया लेकिन अब मैं नहीं चाहती कि हम और समय भी बर्बाद करें।

मैं- संजना तुम बिल्कुल ठीक कह रही हो एक गलतफहमी की वजह से हम दोनों के बीच दरार पैदा हो गई मैंने कभी सोचा भी नहीं था कि ऐसा कभी हो भी सकता है लेकिन देखो ना कैसे हम दोनों के बीच दरार पैदा हो गई अच्छा संजना तुम यह बताओ क्या आप मुझसे प्यार करती हो?

संजना- हां मैं तुमसे अभी भी प्यार करती हूं मुझे तुमसे बात करना भी अच्छा लगता है लेकिन मुझे इस बात की तकलीफ होती है कि तुम मुझसे कितनी दूर हो।

मैं- संजना मुझे भी इस बात की बहुत ज्यादा तकलीफ होती है कि हम दोनों कितनी दूर है लेकिन उसके बाद भी मैं जब तुम्हारे बारे में सोचता हूं तो मुझे बहुत अच्छा लगता है। जब भी मैं यह सोचता हूं कि हम लोग किस प्रकार से एक दूसरे के साथ प्यार करते थे और साथ मे कैसे रहते थे मुझे यह सब सोचकर अच्छा लगता। तुम्हें वह दिन तो याद होगा जब हम दोनों के बीच में किस हुआ था उसके बाद मैंने तुम्हारी सील तोड़ी थी? कैसे उस दिन मैं तुम्हारी सील तोड़ने में कामयाब रहा था मुझे बहुत मजा आया था और तुम्हारी चूत से भी खून निकल आया था।

संजना- हां मुझे याद है कैसे तुमने मेरी सील तोड़ी थी मुझे भी बहुत मजा आया था मेरी चूत से लगातार पानी बाहर निकल रहा था। तुम्हारे साथ जब मैंने संबंध बनाए तो मुझे बहुत अच्छा लगा मैं चाहती हूं आज भी हम लोग कुछ वैसे ही बातें करें जिससे कि मेरी चूत से निकलता हुआ पानी और भी ज्यादा निकलने लगे।

मैं- क्यों नहीं संजना आज भी हम लोग ऐसे ही बात करेंगे मै तुम्हारी चूत को चाटकर पानी बाहर निकालकर उसे अपनी जीभ से चाट लूंगा तुम्हें भी अच्छा लगे और मुझे भी अच्छा लगे। मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूं। मै बहुत तड़पता हूं सुनो ना तुम मुझे अपनी एक नग्न अवस्था में कोई तस्वीर भेजो काफी समय हो गए जब तुम्हारे नंगे बदन को मैंने देखा भी नहीं है। तुम्हारे बदन को देखते ही मेरा लंड तन कर खड़ा हो जाता है वह किसी की भी चूत में जाने के लिए तैयार रहता है।

संजना- मैंने आज पिंक कलर की ब्रा और पैंटी पहनी हुई है मैं तुम्हें अभी अपनी नग्न अवस्था में तस्वीर भेजती हूं मैं बाथरूम में जा रही हूं और अभी अपने कपड़े उतारती हूं, तुम थोड़ी देर के लिए फोन को रखो ताकि मैं तुम्हें अपनी तस्वीरें भेज सकूं और तुम खुश हो जाओ मैं तुम्हें अभी तस्वीर भेजती हूं।

मैं- ठीक है संजना मैं फोन रखता हूं मैं तुमसे बाद में बात करूंगा।

संजना ने कुछ देर बाद मुझे अपनी नग्न अवस्था में तस्वीर भेजी उसके नंगे बदन को देखकर मेरा लंड खड़ा हो गया मैं संजना को चोदने के लिए तैयार था। मैंने सोचा कैसे मैं संजना की चूत मार कर उसे अपना बनाऊं मैं संजना की चूत मारने के लिए तैयार था मैंने संजना को कहा क्या तुम्हारी चूत के अंदर अपने लंड घुसा दूं मुझसे तो रहा ही नहीं जा रहा है।

संजना- तुमने मेरा नंगा बदन को देख लिया होगा आज भी बिल्कुल वैसा ही है जैसा कि तुमने पहले देखा था। मैंने आज भी अपने आपको उतना ही मेंटेन किया हुआ है लेकिन सिर्फ तुम्हारी कमी मुझे बहुत खलती है मैं सोच रही हूं काश तुम मेरे पास होते तो मैं तुम्हें अपने बदन की गर्मी के मजे दे पाती और तुम्हारे लंड से तुम्हारे वीर्य को बाहर निकाल देती।

मैं- संजना मे अपने लंड को हिला रहा हूं मैं तुम्हारे चेहरे को अपने सामने देख कर खुश हूं क्योंकि तुम्हारा गोरा बदन देखकर मेरा लंड खड़ा हो जाता है और मुझे लग रहा है कि मैं तुम्हारी चूत के अंदर अपने लंड को डालू लेकिन वह हो तो मुमकिन नहीं है परंतु मैं तुम्हारी चूत के मजे फोन पर तो ले ही सकता हूं। मैं चाहता हूं तुम अपनी चूत के अंदर उंगली डालो और अपनी चूत के अंदर जब तुम उंगली डालो तो तुम्हें भी मजा आ जाए।

संजना- तुम बिल्कुल ठीक कह रहे हो मैं अपनी चूत को तुम से मरवाने के लिए तैयार हूं मैंने अपने पैरों को खोला हुआ है और अपनी चूत के अंदर मैंने उंगली को घुसा लिया है। मुझे लग रहा है कि तुम ही मेरी इच्छा को आज पूरा कर सकते हो मैं जिस प्रकार से अपनी चूत को सहला रही हूं मुझे बड़ा मजा आ रहा है और मैं सोच रही हूं कि अपनी चूत के अंदर अपनी उंगली को अंदर तक घुसा दूं मेरी चूत बाहर की तरफ को पानी छोड़ने लगी है।

मैं- मुझे भी बहुत मजा आ रहा है और मुझे लग रहा है तुम्हारी चूत के अंदर में लंड को घुसा दू। मैं अपने लंड को चूत के अंदर बाहर कर रहा हूं जिससे कि मुझे बहुत मजा आ रहा है। संजना तुम्हारी चूत उतनी ही कमाल की है जितने की पहले थी मैं बहुत ज्यादा खुश हूं और तुम्हारे साथ आज जिस प्रकार की बातें मेरी हो रही है उससे मैं सोच रहा हूं कि तुम्हारे पास आ जांऊ और तुम्हारी चूत मार कर अपनी प्यास को बुझाऊं।

संजना- मैं तो तुम्हारा इंतजार कर रही हूं कब तुम आओगे और मेरी चूत का भोसड़ा बनाओगे पहले किस प्रकार से मेर चूत के मजे लिया करते थे वह दिन तो मुझे बहुत याद है कैसे मैं अपने बदन के मजे तुम्हें दिया करती थी तुम्हें भी याद होगा?

मैं- संजना मुझे लग रहा है मेरा वीर्य बाहर आने वाला है तुम्हारी बदन और तुम्हारी चूत की कल्पना से ही मेरा वीर्य बाहर की तरफ को निकालने वाला है। मैं तुम्हारे स्तनों के ऊपर अपने वीर्य को गिरा दूंगा जिससे कि तुम्हें भी मजा आ जाएगा और मुझे भी बहुत खुशी होगी तुम्हारे स्तनों के ऊपर मैं अपने वीर्य को गिरा पाया।

संजना- हां तुम मेरे स्तनों पर अपने वीर्य को गिरा दो और संदेश आई लव यू मैं तुमसे बहुत प्यार करती हूं मैं भी झड़ चुकी हूं और जिस प्रकार से तुम ने मेरी चूत से पानी निकाला उससे मैं बहुत ज्यादा खुश हो गई हूं।

Tags: , , ,
error: