मैने बोला तोड़ दो अपनी सील

Hot sex chat, hindi sex stories: फेसबुक पर मेरे एक दोस्त ने अपनी शादी की तस्वीर पोस्ट की मैंने देखा उसमें एक लड़की भी नजर आ रही थी। मैंने अपने दोस्त से पूछ लिया कि यह लड़की कौन है? वह कहने लगा उसका नाम शभिता है वह मेरी पत्नी की सहेली है। मैने अपने दोस्त से कहा यार तुम्हें दोस्ती का वास्ता है तुम मुझे उस लड़की का नंबर दिलवा दोगे। वह मुझे कहने लगा ठीक है तुम मुझे फोन करना मैं अभी बिजी हूं। मैंने उसे परेशान करना शुरू कर दिया आखिरकार उसने भी अपनी पत्नी से शोभिता का नंबर ले लिया। जब शोभिता का नंबर मुझे मिला तो मैं बहुत ही ज्यादा खुश हो गया लेकिन अब बारी मेरी थी मै कैसे शोभिता के साथ बात करूं। शोभिता के साथ बात करना किसी तरीके से आसान नहीं था मेरे लिए यह बड़ी समस्या होने वाली थी परंतु मैंने शोभिता से बात करना शुरू किया। जब मै उससे बात करता तो मुझे अच्छा लगता जब भी शोभिता से मेरी बात होती तो वह मुझसे बात करने के लिए बहुत लालायित रहती थी।

मैं- शोभिता क्या कर रही थी?

शोभिता- बस कुछ नहीं घर पर थी और मम्मी का इंतजार कर रही थी। मम्मी मार्केट गई हुई हैं अभी तक आई नहीं है।

मैं- अच्छा तो मम्मी मार्केट कब गई?

शोभिता- उनको मार्केट गए हुए अभी ज्यादा टाइम नहीं हुआ है लेकिन वह कह कर गई थी कि मैं 1 घंटे बाद लौट आऊंगी परंतु अभी तक वह नहीं आई।

मैं- तो फिर तुम उनको फोन कर लो।

शोभिता- छोड़ दो यार रहने दो कोई बात नहीं आ ही जाएंगे वह घर छोड़कर कहां जाएंगी।

मैं- लगता है तुम्हें तुम्हारी मां की कोई परवाह ही नहीं है।

शोभिता- नहीं ऐसा कुछ नहीं है मुझे अपनी मां की बहुत परवाह है। मै अब बड़ी हो चुकी है मै खुद का फैसले खुद कर सकती हूं।

मैं- अच्छा तो तुम खुद का फैसले कर सकती हो।

शोभिता- हां क्यों नहीं मैं अपने फैसले खुद कर सकती हूं और मुझे अब अपने फैसले करने का अधिकार है।

मैं- अच्छा तुम यह बताओ तुम्हारी बहन आज कहां है?

शोभिता- वह अपनी फ्रेंड के साथ आज घूमने के लिए गई हुई है।

मैं- तुम्हें मालूम है तुम्हारी बहन ना जाने कैसी कैसी तस्वीर फेसबुक पर डालती रहती है।

शोभिता- वह बड़ी बिंदास और बोल्ड है उसे इन सब चीजों से बिल्कुल भी शर्म नहीं आती।

मैं- क्या उसका बॉयफ्रेंड भी है?

शोभिता- हां उसका बॉयफ्रेंड है, मैंने एक बार उन दोनो को साथ मे किस करते हुए भी पकड़ लिया था और मैं उस पर बहुत ज्यादा गुस्सा हो गई थी लेकिन उसके बाद उसने मुझे कहा कि आज के बाद कभी ऐसा नहीं होगा और अभी तक तो कोई ऐसी शिकायत नही आई है।

मै- शोभिता तुम तो बड़ी ही सख्त मिजाज हो। सब ठीक कहा होता है तुम यह बताओ यदि कोई तुम्हें किस कर रहा होता तो क्या तुम भी उसे अपने से दूर रखती।

शोभिता- नहीं मैं उसे दूर तो नहीं रख पाती लेकिन फिर भी मैं कोशिश करती कि कभी ऐसी बात ना हो जिससे कि मुझे बाद में पछताना पड़ जाए।

मैं- अच्छा तो तुम्हें क्यों पछताना पड़ेगा।

शोभिता- यदि कुछ गलत हो गया तो फिर कौन इसका जिम्मेदार होगा।

मैं- लेकिन ऐसा गलत क्या होगा तुम बताओ।

शोभिता- यदि कोई प्रेग्नेंट हो जाए तो उसका जिम्मेदार कौन होगा।

मैं- शोभिता तुम भी ऐसी बात करती हो आजकल तो दुनिया भर की चीजें बाजार में आ गई है आजकल के जमाने में भी भला कोई प्रग्नेंट होता है।

शोभिता- हां कुछ समय पहले ही मेरी एक सहेली को उसके दोस्त ने प्रेग्नेंट कर दिया था और अभी तक वह उससे शादी नहीं कर पाया है और अब भी वह बहुत ज्यादा दुखी रहती है। वह हमेशा मुझे कहती मेरा क्या होगा।

मैं- अच्छा तो तुम्हारी सहेली को किसी लड़के ने प्रेग्नेंट कर दिया था?

शोभिता- उसे लड़के ने प्रेग्नेंट कर दिया था।

मैं- अगर मैं तुम्हे प्रेग्नेंट करता हूं तो तुम्हें कैसा लगेगा।

शोभिता- मैं तो कभी भी इन सब के बारे में नहीं सोच सकती और ना ही मैं सोचती हूं कि कभी ऐसा कुछ हो।

मैं- अच्छा तो तुम कभी नहीं सोचती कि तुम प्रेगनेंट हो जाओ।

शोभिता- नहीं।

मै- क्या अभी तक तुम्हारी योनि बिल्कुल सील पैक है। क्या किसी ने तुम्हारी चूत नहीं मारी है।

शोभिता- नहीं यार अभी तक किसी ने भी मेरी चूत नही मारी है। मैं तो सिर्फ शादी के बाद ही यह सब करूंगी।

मैं- अच्छा तो तुम यह सब शादी के बाद करोगी क्या तुमने कभी सोचा है कि तुम्हें शादी से पहले ही कर लेना चाहिए कितना मजा आता है।

शोभिता- यह बताओ क्या तुमने भी कभी किसी के साथ शारीरिक संबंध बनाए हैं?

मैं- हां मैंने तो दो तीन लड़कियों के साथ शारीरिक संबंध बनाए है तुमसे क्या छुपाना।

शोभिता- अच्छा तो तुमने तीन लोगों के साथ शारीरिक संबंध बनाए थे। चलो यह तो बहुत खुशी की बात है कि तुमने तीन लोगों के साथ शारीरिक संबंध बनाए।

मैं- इसमें मैंने गलत क्या किया यदि वह मेरे पास खुद ही चल कर आई थी और मुझसे अपनी चूत मरवाने की इच्छा जाहिर की तो मैंने उनके साथ संभोग कर लिया क्या मैंने कुछ गलत किया।

शोभिता- नहीं तुमने कोई गलत नहीं किया लेकिन तुम्हारी बातें सुनकर तो मुझे भी लग रहा है कि मुझे भी तुम्हारे साथ संभोग कर लेना चाहिए।

मैं- तो फिर कर लो तुम्हें भी मजा आएगा और तुम्हें बहुत अच्छा लगेगा यदि तुमको मजा नहीं आया तो मेरा नाम बदल देना।

शोभिता- अच्छा तुम्हारा नाम बदलकर क्या रखना है।

मैं- मेरा नाम बदलकर कुछ भी रख लेना लेकिन एक बार तुम अपनी योनि को छू कर तो देखो तुम्हें मज़ा आएगा।

शोभिता- यार मैंने आज तक कभी यह काम नहीं किए।

मैं- एक बार करो तो सही तुम्हे अच्छा लगेगा।

शोभिता- चलो कोशिश करती हू फिलहाल तो अपनी पैंटी के अंदर मैने सहलाना शुरु कर दिया है अच्छा तो लग रहा है।

मैं- मैं तुमसे नहीं कहता था कि तुम्हें अच्छा लगेगा तुम्हें बहुत मजा आएगा।

शोभित- हां कहते तो थे लेकिन फिर भी मैं अपने आप पर कंट्रोल कर के रख रही हूं।

मैं- तुम अपने आप को बिल्कुल फ्री छोड़ दो तुम्हें बहुत मजा आएगा और ऐसा लगेगा कि बस तुम अपनी चूत को किसी से मरवा लो।

शोभिता- मैं किसी से अपनी चूत नहीं मरवाना चाहती मैं शादी के बाद ही यह सब करूगी और तुम्हारी बातों में गहराई तो है। मैंने अपने दोनों पैरों को चौडा तो कर ही दिया है।

मैं- अब तुम्हे बहुत मजा आएगा कहां हो तुम ऐसा लगा जैसे तुम अपनी चूत मरवा रही हो।

शोभिता- मैंने अपनी योनि के अंदर एक केले को ले लिया है और मेरी योनि से खून बाहर की तरफ निकल रहा है।

मैं- तुम्हारी चूत से कितना खून निकल रहा है।

शोभिता- मेरी चूत से बहुत खून निकल रहा है और अब लग रहा है कि मैं बर्दाश्त नहीं कर पाऊंगी।

मै- ऐसा कुछ भी नहीं है तुम्हें बहुत मजा आएगा और तुम्हें लगेगा कि तुम मेरे साथ संभोग करती रहो।

शोभिता- चलो तो तुम्हारे लंड को अपनी चूत में ले लेती हूं।

मै- वैसे भी खून तुम्हारी चूत से बाहर निकल ही आया है और तुमने मेरे कहने पर अपनी सील तुडवा ली है। कोई बात नहीं शोभिता मैं तुम्हें अपनाने को तैयार हूं तुम्हारे जैसी टाइट माल को भल कौन नहीं अपनाएगा तुम्हारा बदन का हर एक हिस्सा अपने आप में कमाल का है।

शोभिता- अच्छा तो तुम्हें किसने बताया कि मेरे बदन का हिस्सा कमाल का है।

मैं- मुझे मालूम है तुम कितनी गजब की हो और तुम्हारा हर एक हिस्सा ऊभरा हुआ है। वह मुझे अपनी और आकर्षित करता है तुम्हारी फोटो मैं साफ तौर पर दिखाई देता है कि तुम कितनी सेक्स से भरपूर हो।

शोभिता- अच्छा तो तुम मेरे बारे में ऐसा सोचते हो लेकिन फिलहाल तो मुझे मजा आ रहा है और ऐसा लग रहा है कि मैं अपनी चूत के अंदर इस केले को समा लूं।

मैं- तो फिर समा लो तुम्हें बहुत मजा आएगा।

शोभिता- अगर यह केला अंदर ही रह गया तो मेरा क्या होगा।

मैं- तुम उसे अंदर बाहर करते रहो।

शोभिता- ठीक है मैं उसे अंदर-बाहर करती हूं फिलहाल तो मुझे बड़ा आनंद आ रहा है और मैं अपने चरम सीमा पर पहुंचने वाली हूं।

मैं- मैं भी अपनी चरम सीमा पर पहुंच चुका हूं और ना जाने कब मेरा वीर्य बाहर की तरफ आ गिरा मुझे मालूम ही नहीं चला।

शोभिता- लो मेरा भी काम हो गया और आज तुमसे बात कर के बहुत अच्छा लगा।

मैं- वह तो तुमको लगना ही था क्योंकि तुम आखिरकार सेक्स के लिए तड़पती हो मुझे नहीं पता था कि तुम मेरे लिए इतना तडपोगी।

शोभिता- हां बहुत तड़पती हूं और तुम्हें भी बहुत अच्छे से मालूम है चलो फिलहाल तो फोन रखती हूं बाद में बात करते हैं।

मैं- चलो ओके बाय बाय।

Tags: , , ,
error: