मै परेशान होने को तैयार हूं

Desi sex talk, hindi sex story जब मुझे मेरे दोस्त की पुरानी गर्लफ्रेंड का मैसेज आया तो मैं थोड़ा चौक गया क्योंकि इस बात को करीब 5 वर्ष हो चुकी थे। 5 वर्ष बाद उसका मुझे मैसेज आया तो मैं थोड़ा हैरान रह गया क्योंकि अब उन दोनों के बीच कोई संबंध नहीं था। मेरा दोस्त अपनी नौकरी में बिजी रहता मैं भी अपने काम में व्यस्त था इसलिए मुझे बिल्कुल भी समय नहीं मिल पाता था और मैं हमेशा यही सोचता रहता कि क्या कुछ मेरे जीवन में नया भी होगा लेकिन जब उस दिन मेरे दोस्त की गर्लफ्रेंड शालिनी का मैसेज मुझे आया तो मैं चौक गया लेकिन मैंने उसको जवाब देते हुए रिप्लाई किया और उसे उसके हाल चाल पूछने लगा। मुझे पता चला कि शालिनी की शादी कुछ समय पहले हुई थी वह अपने पति के साथ लखनऊ में रहती है। मैं तो अंबाला में रहता था और शालिनी का मुझे मैसेज आया तो मैंने भी उस रिप्लाई कर दिया वह मुझसे अमन के बारे में पूछ रही थी लेकिन मैंने उसे अमन के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं थी परंतु उसके बाद हम दोनों की ही मैसेज मे चैट शुरू होने लगी। जब हम दोनों की चैट बढ़ती चली गई तो मुझे अहसास हुआ कि हम दोनों के बीच कुछ तो होने लगा है। जब पहली बार हम दोनों की बीच में सेक्सी बते हुई।

मैं- हेलो शालिनी हाउ आर यू?

शालिनी- आई एम गुड तुम बताओ कैसे हो।

मैं- मैं भी अच्छा हूं लेकिन तुम मुझसे अमन के बारे में पूछ रही थी।

शालिनी- हां मैं तुमसे अमन के बारे में पूछ रही थी।

मैं- अमन से मेरी मुलाकात बहुत कम हो पाती है और मैं भी अपने काम में बिजी हूं और वह भी अपने जीवन में बिजी हो चुका है अमन की शादी हो चुकी है।

शालिनी- क्या बात कर रहे हो अमन की शादी कब हुई है?

मै- उसकी शादी को करीब एक वर्ष होने आया है और उसकी शादी में हम लोगों ने खूब इंजॉय किया था और दारु भी पी थी।

शालिनी- अच्छा तो तुमने अमन की शादी में खूब जमकर डांस किया था।

मैं- हां यार उसकी शादी में तो नाच नाच कर मजे किए थे आखिर वह हमारा पुराना दोस्त है।

शालिनी- तुम यह बताओ तुम आजकल कहां हो?

मैं- मैं तो अंबाला में ही हूं मै अंबाला छोड़कर कहां जाऊंगा।

शालिनी- अच्छा तुम अंबाला में हो मै लखनऊ में रहती हूं और अंबाला मैं कुछ समय पहले आई थी लेकिन वहां पर किसी से मिलने का समय नहीं लग पाया।

मैं- तुम कम से कम मुझे एक बार मैसेज तो कर देती मैं तुम्हें मिलने के लिए आ जाता।

शालिनी- मैं तुमसे मिलना तो चाहती थी लेकिन मुझे यह डर था कहीं यह बात अमन को पता चली तो उसे बुरा लगेगा इसलिए मैं तुमसे मिल ना सकी।

मैं- भला अमन को क्यों बुरा लगेगा।

शालिनी- वह मेरा बॉयफ्रेंड था तो उसे लगेगा कि मैं क्यो तुमसे बात कर रही हूं।

मैं- अमन ऐसा कभी नहीं सोचता तुम्हें ऐसा लग रहा होगा।

शालिनी- मैं तो यही सोच कर तुमसे नहीं मिली और मैंने तुमको फोन नहीं किया।

मैं- तुम दोबारा आओगी तो मिलना।

शालिनी- मुश्किल लगता है शायद नहीं आ पाऊंगी।

मैं- शालिनी अभी मै जा रहा हूं तुम्हें शाम के वक्त फोन करूंगा।

शालिनी- ठीक है तुम मुझे शाम के वक्त फोन कर लेना मैं शाम को फ्री रहूंगी।

मैं- ओके गुड बाय करता हूं फोन।

शालिनी- ठीक है तुम याद से मुझे फोन कर देना।

मैं- मैं फोन कर दूंगा अभी फिलहाल फोन रखता हूं।

शाम को जब मुझे शालिनी का फोन आया तो मैंने उसका फोन उठाते ही कहां मेरे दिमाग से बिलकुल बात उतर गई थी कि तुम्हें भी फोन करना है लेकिन अब तुमसे बात हो गई तो मेरा फोन रखने का मन नहीं कर रहा है।

मैं- तुमने ठीक किया जो मुझे फोन कर दिया मैं बिल्कुल भूल चुका था।

शालिनी- मुझे मालूम है तुम पहले से ही भुलक्कड़ हो तुम्हें कुछ भी याद नहीं रहता।

मैं- अच्छा बाबा भूल गया था।

शालिनी- मुझे तो यह सब कुछ याद रहता है मुझे यह भी पता है कि तुम कैसे अपनी गर्लफ्रेंड के साथ सेक्स करते हुए पकड़े गए थे।

मैं- शालिनी तुम कैसी बात कर रही हो इसमें शर्माने की क्या बात है जब ऐसा हुआ था तो हुआ ही था।

मैं- मुझे बिल्कुल भी अच्छा नहीं लग रहा जैसे तुम मुझसे बात कर रही हो।

शालिनी- मैं फोन रखती हूं।

मैं- अरे नहीं मैं तो मजाक कर रहा था।

शालिनी- तुम कुछ ज्यादा मजाक करने लगे हो।

मैं- हां यार कभी मजाक कर लिया करता हूं तुम यह बताओ तुम्हारे और अमन के बीच में कितने बार शारीरिक संबंध बना हैं?

शालिनी- मेरे और अमन के बीच में तो कम से कम 15, 20 बार शारीरिक संबंध बने थे लेकिन हम दोनों की असलियत जब मेरे पापा को पता चली तो उन्होंने मेरी शादी किसी और के साथ करने के बारे में सोच लिया था।

मैं- क्या तुम्हारी सील अमन ने तोड़ी थी।

शालिनी- हां अमन ने ही मेरी सील तोड़ी थी जब वह मुझे धक्के मारता तो मेरी चूत से खून बड़ी तेजी से बाहर निकलता।

मैं- अच्छा तो तुम्हारे अमन ने पहली बार सेक्स संबध बनाए थे।

शालिनी- लेकिन मुझे बहुत डर लग रहा था क्योंकि मुझे इस बात का डर था कि कहीं कुछ हो गया तो।

मैं- अरे तुम भी बच्चों जैसी बातें करती हो ऐसा कुछ होता है।

शालिनी- यार उस वक्त तो डर लग रहा था उस समय ज्यादा उम्र नहीं थी लगता था कि कहीं कुछ हो ना जाए।

मै- अच्छा यह बताओ तुम्हारे पति तुम्हें खुश रख पाते हैं या नहीं?

शालिनी- वह बहुत खुश रखते हैं और उन्होंने अभी कुछ दिन पहले मेरी गांड मारी थी।

मैं- उन्होंने गांड कैसे मारी?

शालिनी- अरे यार वह ना जाने क्या कुछ चिकना पदार्थ लेकर आए हुए थे और उन्होंने अपने लंड पर लगा लिया और जैसे ही मेरी गांड के अंदर डाला तो मैं चिल्ला उठी थी। मुझे बड़ा मजा आया वह मुझे धक्के देते रहते तो मेरे मुंह से चीख निकल रही थी पर एक अलग ही आंनद आ रहा था।

मै- अच्छा तो तुम्हारे पति तुम्हारी गांड मारने का भी शौक रखते हैं।

शालिनी- हां यार कुछ दिनों पहले ही तो मेरी गांड मारी थी।

मैं- काश मुझे पता होता तो मैं भी तुम्हारी गांड मार लेता।

शालिनी- कॉलेज में तो तुम मेरी तरफ देखते तक नहीं थे और अब गांड मारने की बात कर रहे हो।

मै- उस वक्त मुझे क्या मालूम था कि तुम्हारे अंदर भी जवानी फूट रही है और अमन के साथ तो तुम्हारा चक्कर चल रहा था।

शालिनी- अमन के साथ चल रहा था तो इसमें क्या हुआ मुझे भी तो किसी ना किसी की जरूरत पड़ती ही थी और अमन मेरी जरूरतों को पूरा कर दिया करता था।

मैं- काश कि मैं भी तुम्हारे जैसे गदराए हुए बदन की गांड मार पाता उस वक्त यदि मैं तुम्हार चूत मारता तो मुझे बहुत मजा आता।

शालिनी- आज मार लो मैं तुम्हें आज अपनी गांड मारने का मौका देती हूं।

मैं- लेकिन पहले तुम मुझे आज अपनी तस्वीर भेजो तभी मैं तुम्हारे साथ कुछ करूगा।

शालिनी- ठीक है मैं तुम्हें भेज देती हूं उसके बाद तुम्हें ही मुझे खुश करना पड़ेगा।

मैं- हां भेजो ना मैं इंतजार कर रहा हूं लेकिन जल्दी से भेजना।

शालिनी- लो भेज दी।

मै- यार वाकई में गजब की हो। तुम तो पहले से भी ज्यादा अच्छी हो चुकी हो और बहुत ही मस्त लग रही हो।

शालिनी- मेरे पति भी यही कहते है कि तुम्हे जितनी बार चोदता हूं उतनी बार मेरा मन नहीं भरता और ऐसा लगता है कि तुम्हे ही चोदता ही रहूं और तुम्हारी इच्छा पूरी करता रहूं।

मैं- मैं तुम्हारे पास जल्दी ही आऊंगा और यह बात तुम अमन को मत बताना।

शालिनी- नहीं यार नहीं किसी को नहीं बताऊंगी।

मैं- मैं फिलहाल तो अपने लंड को हिला रहा हूं।

शालिनी- मैंने भी अपनी योनि में वाइब्रेटर को लिया हुआ है और बड़ा मजा आ रहा है।

मैं- मुझे भी अपने लंड को हिलाने में बड़ा आंनद आ रहा है और तुम्हारे बारे में सोच कर ऐसा लग रहा है जैसे कि तुम्हारी चूत कितनी लाजवाब है।

शालिनी- कसम से मजा ही आ रहा है यह वाइब्रेटर कितना आनंद दे रहा है और ऐसा लग रहा है जैसे इसे अपनी योनि में ही डाल कर रखूं।

मैं- मेरा वीर्य बाहर की तरफ आने वाला है मैं बाथरूम में जा रहा हूं।

शालिनी- जाओ जल्दी से बाहर ही ना गिर जाए।

मैं- लो आ ही गया तुम्हारी बातें बड़ी ही मजेदार थी।

शालिनी- तुम भी कम मजेदार बातें नहीं करते आज के बाद तुम्हे ही परेशान करूंगी।

मैं- तुम मुझे ही परेशान करना मैं परेशान होने के लिए तैयार हूं।

Tags: , , ,
error: