मै अब जवान हो चुकी हूं

Hindi sexy story, desi sex chat: मैं अपने कॉलेज की पढ़ाई पूरी कर के चाहती थी कि मैं किसी मल्टीनेशनल कंपनी में जॉब करूं और उसी के लिए मैं तैयारी कर रही थी। उसी दौरान हमारे घर पर पापा के मित्र चंदन अंकल आए हुए थे पापा चंदन अंकल की बड़ी बातें किया करते थे। जब वह हमारे घर पर आए तो उन्हें देखकर ऐसा बिल्कुल भी नहीं लग रहा था कि वह पापा के उम्र के होंगे। उन्होंने अपने आप क अभी तक मेंटेन किया हुआ था उनकी उम्र का बिल्कुल भी अंदाजा लगा पाना मुश्किल था वह किसी नौजवान युवक की तरह लग रहे थे। मैंने जब चंदन अंकल के साथ थोड़ा समय बिताया तो वह मुझे अच्छे लगे चंदन अंकल के साथ समय बिताना बहुत अच्छा था। मैंने उनका नंबर भी ले लिया था और उनसे मैं अक्सर फोन पर बातें किया करती थी वह जब भी हमारे घर पर आते तो हमेशा ही मेरे पापा की बड़ी तारीफ किया करते थे और मेरी भी तारीफ किया करते थे। वह पापा के सामने हमेशा ही मुझे कहते कि आपकी बेटी जरूर कुछ अच्छा करेगी मुझे भी खुशी होती थी मुझे इस बात की खुशी थी कि चंदन अंकल से मै बातें करती हूं उससे मेरे अंदर एक आग पैदा हो जाती है और मैं उनसे बात करने के लिए हमेशा तड़पती रहती थी। खाली वक्त में मैं उन्हें मैसेज कर दिया करती थी लेकिन वह शायद मेरे मैसेजो का ध्यान नहीं दिया करते थे इसलिए वह मुझे बड़ी देर में रिप्लाई किया करते थे परंतु कुछ दिनों से मै उन्हें ज्यादा ही मैसेज करने लगी थी तो उनका भी मुझे व्हाट्सएप पर मैसेज आने लगा। जब भी उनका मुझे मैसेज आता तो वह मुझसे बहुत कम ही बातें किया करते थे पिछले महीने की बात है जब मेरी उनसे बात हो रही थी।

मैं-  हेलो चंदन अंकल?

चंदन अंकल- हां वैशाली बोलो तुमने मुझे अभी मैसेज किया?

मैं- बस ऐसे ही मेरा मन हो रहा था तो सोचा आपको मैसेज कर देती हूं काफी समय हो गए हैं जब आपसे बात भी नहीं हुई तो सोचा आप से बात कर लेती हूं।

चंदन अंकल- तुम यह बताओ तुम्हारे पापा कैसे हैं और घर में सब कुछ ठीक तो है?

मै- हां घर में सब कुछ ठीक हैं आप काफी समय से घर पर नहीं आए हैं।

चंदन अंकल- बेटा तुम्हें क्या बताऊं मैं अपने काम में इतना उलझा हूं और कुछ दिनों से कुछ ज्यादा ही परेशान चल रहा हूं इसलिए तो मैं तुमसे बात नहीं कर पाया। जब इस बार आऊंगा तो जरूर तुमसे मिलूंगा वैसे तुमने जो अपनी प्रोफाइल फोटो लगा रखी है वह बड़ी अच्छी लग रही है और उसमें तुम बहुत सुंदर लग रही हो।

मैं- चंदन अंकल वैसे आप भी कम हैडसम नहीं है मुझे तो लगता है कि जब आप कॉलेज में पढ़ते रहे होंगे तो आपके पीछे लड़कियां पागल होती होंगी। आप मुझे कुछ अपने बारे में बताइए मुझे आपके बारे में जानना है?

चंदन अंकल- वैशाली मैं तुम्हें इस बारे में क्या बताऊं यह ठीक भी तो नहीं है।

मैं- क्या ठीक नहीं है आप बताइए मुझे तो आपसे बात करना अच्छा लगता है और सिर्फ आपसे मैं यही तो जानना चाहती हूं क्या मैंने इसमें कोई गलत कहा यदि मैंने गलत कहा तो आप मुझसे बात मत कीजिए।

चंदन अंकल- वैशाली तुम नाराज हो रही हो अच्छा तुम्हें मैं बताता हूं कॉलेज में मेरे पीछे बहुत लड़कियां पडी थी यह बात तुम्हारे पापा को तो अच्छे से मालूम है। कॉलेज में तुम्हारे पापा की गर्लफ्रेंड भी मेरे पीछे ही पड़ी थी वह मेरे लिए इतनी पागल हो गई थी कि तुम्हारे पापा और मेरे बीच में एक वक्त ऐसा भी आया जब हम दोनों के बीच झगड़े हो गए थे। उसके बाद मैंने तुम्हारे पापा को समझाया और हम दोनों के बीच सब कुछ ठीक हो गया लेकिन यह इतना आसान भी नहीं था।

मैं- अच्छा तो आपने पापा को इस बारे में समझाया था क्या पापा और उनकी गर्लफ्रेंड के बीच में किस भी हुआ था, वह सब भी हुआ था जो बंद कमरे में होता है?

चंदन अंकल- वैशाली यह तुम किस प्रकार की बातें कर रही हो मैं तुमसे बहुत बड़ा हूं और ऐसी बातें करना अच्छा नहीं है तुम मेरे दोस्त की बेटी हो।

मैं- मैं अब जवान हो चुकी हूं अपने फैसले में खुद ले सकती हूं मुझे आप से बात करने का मन है और क्या आप मुझे नही बता सकते मेरे पापा और उनकी गर्लफ्रेंड के बीच क्या-क्या हुआ था?

चंदन अंकल- तुम मुझे यह बताओ कि अगर मैं तुमसे इस बारे में पूछूंगा तो क्या तुम मुझे इस बारे में बताओगी?

मैं- हां जरूर आपको मैं इस बारे में बताऊंगी क्यों नहीं मुझे आपको बताने में खुशी होगी।

चंदन अंकल- अच्छा तो तुम मुझे यह बताओ कि तुम्हारे किसी के साथ शारीरिक संबंध भी बने हैं? तुम्हारे स्तनों का क्या नंबर है तुमने आज क्या पहना हुआ है यह सब बातें मुझे बताओ मैं भी तो जानना चाहता हूं कि आखिर तुम्हारे अंदर कितनी गर्मी है।

मैं- मेरे अंदर गर्मी तो बहुत ज्यादा है यदि आपने मेरी गर्मी को मिटा दिया तो मैं मान जाऊंगा कि आप भी अपने जमाने के खिलाड़ी रहे होंगे। मैंने आज लाल रंग की ब्रा और पैंटी पहनी हुई है मेरे स्तनों का साइज आप खुद ही आकर नाप लीजिएगा आपको अंदाजा तो लग ही गया होगा कि मेरे स्तन कितने बड़े है।

चंदन अंकल- हां मुझे तो इस बारे में सब कुछ पता है मैं तुम्हारे स्तनों की तरफ अक्सर देखता भी हूं अच्छा मुझे तुम यह बात बताओ कि क्या तुम्हारी चूत के अंदर तुम अभी उंगली को डालोगी तो तुम्हें मजा आ जाएगा। मैंने भी अपने लंड को अपने हाथ में ले लिया है तुम्हारी कल्पना कर रहा हूं कि कैसे तुम्हारी चूत के अंदर में अपने लंड को घुसाऊंगा और अपनी आग को मैं बुझाऊंगा क्योंकि अभी मैं तुमसे कभी दूर हूं इसलिए हम लोग फोन सेक्स के माध्यम से ही बात कर सकते हैं।

मैं- आप कहे तो मैं अपनी चूत के अंदर बैंगन को डालूं मुझे बैंगन को घुसाने में बड़ा मजा आता है। बैंगन का जो आकार होता है वह बिल्कुल ही लंड जैसा होता है मुझे लंबे वाले बैंगन को अपनी चूत में लेने में बड़ा मजा आता है। जब भी में अकेली होती हूं तो अपनी चूत के अंदर बैंगन को डालती हूं ताकि मेरी गर्मी को मैं शांत करती रहूं मेरी जवानी भी आग छोडने लगी है। जब भी मैं अपने बॉयफ्रेंड को कहती हूं कि मुझे चोदने के लिए आओ तो वह मुझे चोदने के लिए आ ही नहीं पाता है इसीलिए तो मैं अब तक तड़प रही हूं और आज आपसे बात कर के मेरी गर्मी बहुत ज्यादा बढ़ गई है।

चंदन अंकल- तुम अपनी चूत के अंदर बैंगन को घुसा लो मैं अपने लंड को फिलहाल तो अपने हाथों से हिला रहा हूं और मुझे अपने लंड को अपने हाथों से हिलाने में मजा आ रहा है क्या तुम मेरे लंड को अपने मुंह के अंदर भी लोगी तुम्हें भी बहुत मजा आएगा। जिस प्रकार से तुम्हारे अंदर की जवानी फूट रही है उस से मुझे अंदाजा लग रहा है कि तुम बड़ी ही सेक्सी हो और तुम्हारे साथ मैं संभोग कर ही सकता हूं।

मै- क्यों नहीं मैं आपके लंड को अपने मुंह के अंदर ले लेती हूं और अपनी चूत के अंदर में बैंगन को डाल लेते हूं मुझे भी बड़ा अच्छा लगेगा जिस प्रकार से मैं अपनी चूत के अंदर बैंगन को डल रही हूं। आप मेरी इच्छा को अच्छे से पूरा कर पाएंगे मैं बहुत ज्यादा खुश हो जाऊंगी आप ऐसे ही मेरे मुंह के अंदर अपने लंड को डालते रहिए।

चंदन अंकल- वैशाली मुझे तो बहुत अच्छा लग रहा है मैं सोच रहा हूं कि ऐसे ही तुम्हारी चूत के अंदर अपने लंड को भी डाल दूं ताकि तुम्हारे अंदर की गर्मी को मैं बुझा सकूं। वैसे आज तक तुमने कितने लंड को अपनी चूत के अंदर समाया है?

मैं- हमारे पड़ोस में रहने वाला एक लड़का है उसका लंड बड़ा ही मोटा है जब उसने मुझे चोदा था तो उसने मेरी हालत खराब कर दी थी अभी तक मुझे याद है कि उसने कैसे मेरी चूत के अंदर अपने लंड को घुसाया था और मेरी इच्छा को पूरा किया था। मुझे तो लगता है कि आपका लंड भी कम मोटा नहीं होगा लेकिन फिलहाल तो इस वक्त मुझे आपके लंड को चूसने में मजा आ रहा है आप अब मेरी चूत के अंदर अपने लंड को घुसा दीजिए।

चंदन अंकल- अपने लंड को मैंने तुम्हारी चूत में घुसा कर धक्के देना शुरू कर दिया है तुम्हारी बातों से मैं बड़ा खुश हो गया हूं मुझे लग रहा है कि मैं ज्यादा देर तक अब तुम्हें धक्के नहीं मार पाऊंगा। तुमने तो वाकई में आज मुझे गर्म कर दिया इतने सालों बाद मुझे एहसास हो रहा है कि किसी ने आज मेरी गर्मी को मिटाया है लो मैंने अपने वीर्य को तुम्हारी चूत में गिरा दिया।

Tags: , , ,
error: