चूत चुदाई का खेल खेल पाया

Antarvasna, hindi sex talk: मैं अपने ऑफिस से घर लौट रहा था मेरे फोन पर किसी का फोन बड़ी देर से आ रहा था लेकिन ऑफिस में होने की वजह से मैं फोन रिसीव नहीं कर पाया। मैं जब घर पहुंचा तो मेरी पत्नी मुझसे कहने लगी आज आप बहुत देर से घर आ रहे हैं? अपनी पत्नी के सवालों से परेशान होकर मैंने उससे कहा तुम हमेशा ही मेरी इतनी जासूसी क्यों करती रहती हो मैंने तुम्हें दोपहर में ही बता दिया था कि मुझे अपने ऑफिस से घर आने में देर हो जाएगी लेकिन उसके बावजूद भी तुम मुझसे ना जाने कितने ही प्रकार के सवाल करती रहती हो। मैं अपनी पत्नी के सवालों से बहुत परेशान हो चुका था और मुझे उस दिन बिल्कुल भी अच्छा नहीं लग रहा था मेरा मूड बहुत ही ज्यादा खराब था। मैं अपने कमरे में चला गया मेरी पत्नी खाना बना चुकी थी वह मुझे कहने लगी तुम खाना खाने आ जाओ मेरा उस दिन खाना खाने का बिल्कुल भी मन नहीं था लेकिन मैंने खाना खा लिया। रात के वक्त मेरी पत्नी सो चुकी थी मैं छत पर चला गया मैं इधर उधर देखने लगा मुझे उस वक्त कोई दिखाई नहीं दे रहा था। मैंने अपने जेब से मोबाइल निकाला और उसी नंबर पर मैंने फोन किया जिस नंबर से मुझे फोन आ रहा था। मैंने जब फोन किया तो उस वक्त किसी महिला ने फोन उठाया और हेलो बोला उसके बाद कुछ भी आवाज नहीं आ रही थी लेकिन सिर्फ तेज सिसकियो की आवाज आ रही थी। मैं काफी देर तक यह सब सुनता रहा मुझे ऐसा प्रतीत हो रहा था कि जैसे कोई चूत चुदाई का खेल खेल रहा है लेकिन उस वक्त मेरा मन सेक्स करने का होने लगा तो मैं अपनी पत्नी के पास लेट गया। मैंने उस रात उसकी चूत मार ली जिसके बाद वह गहरी नींद में सो गई अगले दिन मेरे मोबाइल पर उसी नंबर से मैसेज आया तो मैं व्हाट्सएप के माध्यम से बात कर रहा था। बात इतनी बढ़ी कि मैंने जब उस नंबर पर फोन किया तो जिस महिला ने फोन उठाया उससे मेरी बात हुई यह बात पहली और आखरी बार ही थी इसके बाद हम लोगों की कोई भी बात नहीं हुई।

मैं- कल आपका मेरे नंबर पर फोन आ रहा था तो सोचा आपको रात को फोन करू लेकिन रात के वक्त तो कुछ अलग ही प्रकार की आवाजें आ रही थी।

बबीता- अब आपसे क्या छुपाना। क्या आप शादीशुदा हैं?

मैं- हां मै शादीशुदा हूं।

बबीता- रात के वक्त मेरे पति मुझे चोद रहे थे तभी आपको मेरी मादक सुनाई दे रही होगी।

मैं- वैसे आपके पति आपको बड़े ही अच्छे तरीके से चोद रहे थे आपके अंदर की गर्मी को उन्होंने पूरी तरीके से बाहर निकाल कर रख दिया था मुझे साफ प्रतीत हो रहा था कि उन्होंने आपकी चूत का भोसड़ा बना कर रख दिया होगा।

बबीता- अब आपको मैं क्या बताऊं मेरे पति तो मेरी चूत मारे बिना रह भी नहीं पाते हैं। जब भी हम लोग शारीरिक संबंध बनाते है तब वह मुझे कहते हैं कि मुझे आज मजा आ गया। उन्हें सिर्फ मुझे चोदने में ही मजा आता है वह मेरे साथ हर रात सेक्स करते हैं जबसे हम लोगों की शादी हुई है उसके बाद से कोई भी ऐसा दिन नहीं बिता होगा जिस दिन हम लोगों ने एक दूसरे के साथ शारीरिक संबंध स्थापित ना किया हो।

मैं- मुझे आपकी हिम्मत की दाद देनी पड़ेगी आपके पति आपको इतना चोदते हैं लेकिन उसके बावजूद भी आपके अंदर सेक्स की मात्रा भरपूर तरीके से भरी पड़ी है और आप पूरी तरीके से अपने पति का साथ दे पा रही हैं। मेरी किस्मत में तो ऐसा है ही नहीं मेरी पत्नी तो मेरे साथ सेक्स करती ही नहीं है वह तो कल आप लोगों की बातें सुनकर हम दोनों के बीच में चूत चुदाई का थोड़ी देर खेल चल पाया।

बबीता- तब तो आपको मेरा शुक्रिया कहना चाहिए मेरी वजह से आप अपनी पत्नी को चोद पाए मेरी वजह से ही आपको यह मौका मिल पाया।

मै- आप बिल्कुल सही कह रही हैं आपकी वजह से ही तो मुझे यह मौका मिल पाया लेकिन मैं जानना चाहता हूं कि क्या आपकी चूत में बाल है या नहीं?

बबीता- मेरी चूत में बहुत से बाल हैं यदि आपको देखना है तो आप देखने के लिए आ सकते हैं वैसे यदि आपने मेरी चूत देख ली तो शायद आपका मन मुझे चोदने का भी होने लगेगा।

मैं- लगता है अब तो आपके पास आना ही पड़ेगा वैसे आप मेरे व्हाट्सएप नंबर पर अपनी चूत की तस्वीर भेज देती तो मैं आपकी चूत देख पाता की आप की चूत कितनी ज्यादा मुलायम है।

बबीता- आपको अपनी चूत की तस्वीर भेज देती हूं आपको अच्छा लगेगा।

मैं- वाकई में आपकी चूत लाजवाब है आपकी चूत के बाल बहुत ज्यादा बड़े हैं क्या आप अपनी चूत के बालों को कभी काटती नहीं है मुझे तो बड़ा अच्छा लग रहा है आपकी चूत को देखकर जिस प्रकार से आपकी चूत में इतने घने बाल है मेरा तो लंड खड़ा हो चुका है और मेरा मन कर रहा है कि मैं आपके पास चला आंऊ और आपकी चूत के मजे ले लू।

बबीता- आप बिल्कुल ठीक कह रहे हो मेरे पति इसीलिए तो मेरे चूत हर रोज मारते हैं और मुझे इतना भी समय नहीं मिल पा रहा है कि मैं अपनी चूत के बाल साफ कर सकू। मुझे मजा बड़ा आता है जब मेरे पति मेरे साथ शारीरिक संबंध बनाते हैं मैं बहुत ज्यादा खुश हो जाया करती हूं वह मेरी चूत बड़े ही अच्छे तरीके से मारते हैं।

मैं- काश आपकी शादी मुझसे हुई होती तो मेरा भाग्य ही बदल जाता कम से कम मुझे हर रात आपको चोदने का मौका मिल जाता आपके पति बड़े खुशनसीब हैं जो उन्हें आपके जैसी सेक्सी पत्नी मिली और आपकी चूत तो बड़ी लाजवाब है देख कर ही मेरा लंड खड़ा हो रहा है।

बबीता- चलो मैं आपको भी मौका दे देते हू आप मेरी चूत के अंदर अपने लंड को डाल दो मैं भी तो देखूं आपकी गांड में कितनी ताकत है और आपका लंड मेरी चूत के कितने अंदर तक जा पाता है। मैं इंतजार कर रही हूं मैंने अपने दोनों पैरों को खोल लिया है और आपके लंड का इंतजार कर रही हूं कि कब वह मेरी चूत के अंदर जाएगा।

मैं- मैंने आपकी चूत के अंदर अपने लंड को डाल दिया है वाकई में मजा आ रहा है और ऐसा लग रहा है कि जैसे आपकी चूत के अंदर लंड को डाले रखू मेरे अंदर बहुत ज्यादा गर्मी पैदा हो गई है और मुझे बड़ा मजा भी आ रहा है।

बबीता- मेरे पैरों को थोड़ा सा चौड़ा कर लीजिए मुझे दिक्कत हो रही है  आपका लंड मेरी चूत के अंदर तक नहीं जा पा रहा है इसलिए मेरे पैरों को चौडा कीजिए ताकि आपका लंड आसानी से मेरी चूत के अंदर जा सके।

मैं- मैंने आपके दोनों पैरों को खोल लिया है अब मुझे बड़ा मजा आ रहा है और जिस प्रकार से आप मेरा साथ दे रही हैं उससे मेरा लंड वाकई में तन कर खड़ा हो चुका है। मैं बैठे बैठे ही आपकी चूत की कल्पना कर रहा हूं और मुझे ऐसा लग रहा है जैसे सचमुच में आपकी चूत के अंदर मेरा लंड घुसा हुआ हो आप वाकई में बड़ी कमाल की हैं।

बबीता- कमाल के तो आप भी बहुत हैं जो पहली ही मुलाकात में मुझसे इतनी गरमा गरम बात कर पा रहे हैं। वैसे मैं हर किसी को यह मौका नहीं देती लेकिन आप पहले इंसान हैं जिस से कि मैं इस प्रकार की बातें कर रही हूं क्योंकि आपकी बातें मेरे दिल पर लग रही है इसलिए मुझे लगा कि मुझे आपसे बातें करनी चाहिए और आप से बात कर के मुझे बड़ा अच्छा लग रहा है।

मैं- आपने मुझे अपनी पूरी तस्वीर भेजो उसे देख कर मैं मुट्ठ मार रहा हूं आपके स्तन वाकई में बड़े लाजवाब है मुझे लग रहा है आपके स्तनों का साइज 34 बी तो होगा?

बबीता- आपने बिल्कुल सही पहचाना मेरे स्तनों का साइज 34 बी ही है और मुझे अपने स्तनों को चुसवाने में बड़ा मजा आता है हमारे घर का नौकर जब भी घर पर आता है तो वह मेरे स्तनों को जरूर चूसता है। मुझे उससे अपने स्तनों को चुसवाने में बहुत अच्छा लगता है और ऐसा लगता है कि जैसे कि वह मेरे स्तनों को सिर्फ चूसता ही रहे।

मैं- आपसे बात कर के बहुत अच्छा लगा और मेरा वीर्य भी बाहर की तरफ को आने लगा है यदि आप उसे अपने मुंह में ले लेती तो अच्छा रहता।

बबीता- इतनी छोटी सी बात लो मैंने अपने मुंह को खोल लिया सारे माल को मेरे मुंह के अंदर ही गिरा दो।

Tags: , , ,
error: