उतावली चूत और मेरा उतावला लंड

Hot sex chat, hindi sex story: मेरी शादीशुदा जिंदगी को 5 वर्ष हो चुके हैं इन 5 वर्षों में मेरी जीवन में बहुत सारे बदलाव आए लेकिन उसके बाद भी मैं कभी अपनी जिम्मेदारियों से भागा नहीं लेकिन मुझे नहीं मालूम था कि मेरी जिंदगी में जब सरिता भाभी आएंगी तो सब कुछ बदल जाएगा। सरिता भाभी से मेरी पहली बार बात फोन पर हुई जब हम दोनों की बात फोन पर हुई उसके बाद हम लोग एक दूसरे से फोन पर घंटो तक बात किया करते। सरिता भाभी अकेली ही रहती थी उनके जीवन में ना जाने कितने सारे गम थे जिसे कि वह कभी भी भूल नहीं पाती थी जब भी वह मुझसे फोन पर बात करती तो अक्सर वह मुझे कहती राजेश मैं तुमसे बात करती हूं तो मुझे बहुत अच्छा लगता है। मैं भाभी को कहता भाभी मैंने भी जब से आपसे बात करनी शुरू की है तब से मैं बहुत ज्यादा खुश हूं मेरा जीवन भी पूरी तरीके से बदल चुका है। भाभी ने मुझ से पूछने लगी मैने जीवन कैसे बदला है? मैंने बताया जब से आपकी मेरी बात हुई है तब से मैं बहुत खुश रहने लगा हूं मेरी पत्नी के साथ मेरे झगड़े होते हैं और उन झगडो से परेशान होकर मैं अपने दिल की तसल्ली के लिए आप से बात करता हूं। वह कहने लगी मेरे साथ भी ऐसा ही है मेरे पति तो मुझे छोड़ कर चले गए और मुझे बीच रास्ता मे अकेला छोड़ दिया। उनकी दो लड़कियां हैं और भाभी मुझ से जब बात करती तो मुझे बहुत अच्छा लगता था भाभी ने अपनी मेहनत के बलबूते सरकारी स्कूल में अध्यापिका की नौकरी हासिल कर ली।

मैं- भाभी कल रात को आप से बात नहीं कर पाया क्योंकि मेरी पत्नी आ गई थी उसके लिए मैं आपसे माफी मांगता चाहता हूं।

भाभी- राजेश आप कैसी बात करते हैं आपको ऐसा कहने की जरुरत क्यों पड़ी आप मेरे अपने हैं और आपको मैं अपनी जिंदगी में अपने सबसे करीब पाती हूं आज के बाद कभी भी मुझ से आप ऐसा मत कहिएगा।

मैं- हां भाभी जी आज के बाद आप से कभी ऐसा नहीं कहूंगा।

भाभी- यह बात छोड़िए आप यह मुझे बताइए कि आप अभी क्या कर रहे थे?

मैं- कुछ नहीं बस आपकी याद में बैठा हुआ था और सोच रहा था कि आपसे कब बात करूंगा।

भाभी- मैं जब भी आप से बात करती हूं तो मुझे बहुत अच्छा लगता है और एक अपनापन सा लगता है।

मैं- भाभी वैसे आज मौसम बड़ा सुहावना है सुबह से ही बारिश बड़ी तेज हो रही है आप मेरे कहने का मतलब तो समझ ही गई होंगी।

भाभी- हां मैं आपका कहने का मतलब समझ चुकी हूं वैसे आप मुझे भी थोड़ा समय दे दो मैं आपसे थोड़ी देर बाद बात करती हूं मुझे कुछ जरूरी काम है।

मैं- ठीक है भाभी आप अपना काम कर लीजिए उसके बाद आप मुझसे बात कीजिएगा मैं। आपके फोन का इंतजार करूंगा

थोड़ी देर बाद भाभी का फोन मेरे फोन पर आया मैंने तुरंत ही उनका फोन उठाते हुए उनसे बात करनी शुरू की अब हम दोनों पूरी तरीके से उत्तेजित हो चुके थे मैं अपनी गरम बातों से भाभी के बदन को और भी गर्म करना चाहता था।

भाभी- मैं अब फ्री हो चुकी हूं हम लोग खुलकर बात कर सकते हैं।

मैं- अच्छा तो आप यह बताइए आज आपने क्या पहना है मैं जानने के लिए उत्सुक हूं?

भाभी- हमेशा ही तो तुम मुझसे यह बात करते रहते हो कभी कोई नई बात भी किया करो।

मैं- भाभी मेरा तो मन ऐसी बात करने का है आपके साथ जिस प्रकार से मैं बात करता हूं उससे तो मेरा लंड खड़ा खड़ा हो जाता है मुझे बहुत मजा आता है जब आपसे मैं बात करता हूं आप बताइए आपने आज क्या पहना है? मैं जानने के लिए बहुत बेताब हूं।

भाभी- मैंने आज पिंक रंग की पैंटी ब्रा पहनी है और आपसे बात कर के मेरी चूत से कुछ ज्यादा ही पानी बाहर की तरफ को निकल रहा है मुझे तो लग रहा है कि कहीं मेरी पैंटी पूरी गिली ना हो जाए इसलिए मैं अपने कपड़ों को उतार रही हूं।

मैं- भाभी आप बिल्कुल ठीक कह रही हैं मेरा लंड हिलोरे मारने लगा है मुझे लग रहा है मेरे लंड को मुंह से बाहर निकालना पड़ेगा तब जाकर मुझे भी मजा आएगा।

भाभी- तुम भी अपने लंड को बाहर निकालो मैं भी अपनी चूत के अंदर उंगली को डाल रहा हूं काफी दिन हो गए जब अपनी चूत के अंदर उंगली नहीं घुसा पाई वैसे भी मेरी चूत से कुछ ज्यादा ही पानी बाहर की तरफ को निकल रहा है मैं बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं कर पा रही हूं।

मैं- भाभी आप वाकई में लाजवाब है मेरा लंड तो आपकी चूत में जाने के लिए तैयार है लो मैंने अपने लंड को बाहर निकाल लिया है मैं आपकी चूत में अपने लंड मे घुसाने के लिए तैयार बैठा हूं आप अपने दोनों पैरों को खोल दीजिए और मैं आपकी चूत के अंदर अपने लंड को घुसा देता हूं।

भाभी- मैंने अपने पैरों को खोल लिया है अब आप अपने लंड को मेरी चूत के अंदर प्रवेश करवा दिया मैंने वैसे अपनी चूत के अंदर उंगली घुसा दी है। मेरी चूत से लगातार पानी बाहर की तरफ को निकल रहा है जिससे कि मेरे अंदर गर्मी बहुत ज्यादा बढ़ने लगी है लेकिन मैं अपनी चूत के अंदर बाहर अपनी उंगली को कर रही हूं जिससे कि लगातार पानी बाहर की तरफ को निकल रहा है।

मैं- मुझे भी बहुत अच्छा लग रहा है मैंने अपने लंड को आपकी चूत की दीवार से टकराना शुरू कर दिया है वैसे मेरा लंड पूरी तरीके से खड़ा हो चुका है मुझे बहुत मजा आ रहा है जब आपकी चूत के अंदर बाहर मै अपने लंड को कर रहा हूं। आप मेरे लंड को अपने मुंह में लोगे?

भाभी- आपके लंड को भला मैं अपने मुंह में क्यों नहीं लूंगी आप अपने लंड को मेरे मुंह के अंदर डाल दीजिए। मुझे बहुत मजा आ रहा है मैं आपके लंड को चूस रही हूं आपके लंड से पानी बाहर की तरफ निकल रहा है।

मैं- हां भाभी मेरे लंड से पानी बाहर की तरफ निकल रहा है लेकिन आपकी चूत से भी तो पानी बाहर की तरफ को निकल रहा है आप ऐसे ही मेरे लंड को अपने मुंह के अंदर बाहर करते रहिए मुझे बहुत आनंद आ रहा है।

भाभी- जब भी तुमसे बात करती हू मुझे मजा आता है तुम भी मेरी चूत को चाट कर मेरी चूत के अंदर से मेरी गर्मी को बाहर निकालो मुझे अपनी चूत को तुम से चटवाना है।

मैं- भाभी मैंने आपकी चूत के अंदर अपनी जीभ को घुसा लिया है आपकी चूत को मै अच्छे से चाट रहा हूं आपकी चूत से बहुत ज्यादा पानी बाहर की तरफ को निकल रहा है मुझे बड़ा मजा भी आ रहा है जिस प्रकार से आपकी चूत के अंदर से पानी बाहर की तरफ को निकल रहा है मुझे आपकी चूत के नमकीन पानी को चाटने में बड़ा आनंद आ रहा है।

भाभी- ऐसे ही मेरी चूत के पानी को तुम चाटती रहो मुझे तुम अपना बना लो।

मैं- मैंने तो भाभी आपको कब का अपना बना लिया है मेरे दिल में आपके लिए बहुत जगह है और मेरे लंड में भी आपके लिए बहुत जगह है मेरा लंड आपकी चूत में जाने के लिए हमेशा उत्सुक रहता है। मेरा लंड इतना उतसुक रहता है कि आपकी चूत को फाड़ कर वह अंदर की तरफ घुस जाए उसका ही मैं इंतजार करता रहता हूं।

भाभी- मेरी चूत ने तुम्हे अपना मान लिया है मैंने भी तुम्हें अपना मान लिया है जब भी तुम्हारे साथ ऐसे मजे लेती हूं तो मेरी चूत से पानी अपने आप निकलने लगता है और तुम्हारी गरमा गरम बातें सुनकर तो मुझे मजा आ रहा है मुझे बहुत ही आनंद आ रहा है जिस प्रकार से तुम मेरी चूत के अंदर बाहर अपने लंड को कर रहे हो मुझे बड़ा आनंद आ रहा है। ऐसे ही तुम धक्के देते रहो मुझे लग रहा है मैं झड़ने वाली हूं और थोड़ी ही देर बाद में झड़ जाऊंगी।

मैं- भाभी आपने बिल्कुल ठीक कहा मेरा वीर्य तो बाहर की तरफ को निकल चुका है मुझे लग रहा है शायद अब मैं रह नहीं पाऊंगा इसलिए मैं आपकी योनि के अंदर अपने वीर्य को गिरा रहा हूं उम्मीद करता हूं कि आप भी पूरी तरीके से संतुष्ट हो चुकी होंगी?

भाभी- हां मैं पूरी तरीके से संतुष्ट हो चुकी हूं मेरी चूत से अब बहुत पानी निकलने लगा है मुझे लग रहा है हमें फोन रख कर थोड़ी देर आराम करना चाहिए उसके बाद हम लोग फोन पर बात करते हैं।

मैं- ठीक है भाभी हम लोग बाद में बात करते हैं।

Tags: , , ,
error: