ठंड मे गरम बाते

Antarvasna, desi sex chat: थोड़े समय पहले ही मेरा डिवोर्स हुआ था जब मेरा डिवोर्स हुआ तो मैं बहुत ही ज्यादा परेशान था। मेरी पत्नी जो कि मुझसे बहुत प्यार करती थी वह ना जाने किसकिस से अपनी चूत की खुजली मिटा रही थी मैं इस बात से बहुत ही ज्यादा परेशान हो गया था और मुझे कई बार लगता कि मेरे साथ यह सब नहीं होना चाहिए था क्योंकि मैंने अपनी पत्नी को बहुत प्यार किया था और उसे मैंने किसी भी प्रकार की कोई कमी कभी होने नहीं दी। मैं उसे बहुत प्यार करता था अब हम दोनों का डिवोर्स हो चुका था हम दोनों एक दूसरे से अलग हो चुके थे यह सब सिर्फ मेरी पत्नी की गलती की वजह से ही हुआ था अगर वह ऐसा नहीं करती तो शायद कभी भी मेरी जिंदगी इतनी अकेले नहीं होती। अब मैं बहुत अकेला हो चुका था मुझे किसी ऐसे की जरूरत थी जो कि मेरा ध्यान रख सके और मेरी बातों को समझ सके लेकिन अभी तक ऐसा कोई मिला नहीं था जो कि मुझे समझ सकता क्योंकि मेरे पास ऐसा कोई था ही नहीं। ना ही मेरा कोई दोस्त था और ना ही मेरी पत्नी मेरे साथ थी मैं बहुत अकेला था मेरे मातापिता का देहांत भी काफी पहले हो गया था जिस वजह से मुझे कई बार ऐसा लगता कि मैं अंदर ही अंदर बहुत ज्यादा घुटने लगा हूं और मैं बहुत परेशान हूं। मै अब मनीषा से बात करने लगा मेरी मनीषा से फेसबुक के माध्यम से जान पहचान हुई हम दोनों की जानपहचान बढ़ती चली गई। हम दोनों एक दूसरे से हमेशा ही फोन पर बातें करने लगे हम दोनों को एक दूसरे से बातें करना अच्छा लगता। मेरी और मनीषा की जिंदगी में काफी समानता था क्योंकि मनीषा का भी डिवोर्स हुआ था और मेरा भी मेरी पत्नी से कुछ समय पहले डिवोर्स हुआ था जिसने की हम दोनों को एक दूसरे के करीब ला दिया था मनीषा को भी किसी की जरूरत थी।

मैंमनीषा मुझे तुम्हारी बहुत याद आ रही थी मुझे तुमसे बात करने का बहुत मन था। मेरी तबीयत भी आज कुछ ठीक नहीं लग रही थी मुझे तुम्हारी बहुत याद आ रही है तो सोचा आज तुमसे बात कर लूं।

मनीषागौतम तुम बताओ तुम्हें क्या बात करनी है तुम्हारे लिए तो मैं हमेशा ही फ्री हूं हमारी जब भी बात होता है तब मैं तुमसे बात करती हूं वैसे आज ठंड बहुत ज्यादा हो रही है मैं तो बिस्तर के अंदर लेटी हुई हूं।

मैठंड तो बहुत ज्यादा हो रही है मैं सोच रहा था अगर तुम मेरे पास होती तो कितना मज़ा आता मैं तुम्हें अपनी बाहों में समा लेता लेकिन तुम मुझसे बहुत दूर हो मुझे कई बार लगता है कि काश तुम मेरे पास होती हम दोनों की शादी हो जाती। क्यों तुम मुझसे शादी करने के लिए तैयार हो या फिर हम लोग ऐसे ही फोन पर बातें करते रहेंगे।

मनीषामैं तुमसे शादी करने के लिए तैयार हूं जब भी मेरी तुमसे बात होती है तो मुझे बहुत ही अच्छा लगता है ऐसा लगता है जैसे कि तुम बस मेरे पास ही बैठे हुए हो और मुझसे बात कर रहे हो। वैसे मैं तुम्हारी बाहों में आने के लिए बहुत तड़पती हूं और ऐसी ठंड मैं तो मैं तुम्हारी बाहों होती और तुम्हारे अंदर की गर्मी को पूरी तरीके से बढा देती। मैं तुम्हें खुश कर दूंगी और तुम्हारे बदन से पसीने को बाहर निकाल दूंगी।

मैंमनीषा यह सब तो ठीक है लेकिन तुम यह बताओ कि आज तुमने पहना क्या है तुमने मुझे 2 दिन पहले अपनी फोटो भेजी थी उसमें तुम बडी ही आइटम लग रही थी। मुझे तो लग रहा था तुम्हारी चूत मार लू। तुम्हे देखते ही कहीं बाहर ना आ जाए इसीलिए तो मैं तुमसे आज बात कर रहा हूं मैं चाहता हूं मैं तुम्हारी चूत की खुजली को आज मिटा कर रख दूं मैं तुम्हारे लिए बहुत ही ज्यादा तड़प रहा हूं क्या तुम मेरे लंड को आज अपने मुंह में लेकर चूसोगी?

मनीषामैं तो तुम्हारे लंड को अपने मुंह में हमेशा ही लेने के लिए तैयार हूं जब भी तुम मुझसे बात करते हो तो मेरे जहन मे तुम्हारे लंड की तस्वीर आ जाती है जो कि तुमने मुझे कुछ दिनों पहले भेजी थी। वैसे आज मैं अपनी चूत के अंदर उंगली को घुसाने वाली हूं और सोच रही हूं आज अपनी चूत में मैं बैगन को घुसा लूं क्योंकि मैं बहुत ज्यादा ही तड़प रही हूं मुझे लग रहा है मेरी चूत की खुजली आज इतनी जल्दी मिटने वाली नहीं है।

मैंमनीषा क्या कभी तुम्हें तुम्हारे पति कि याद आती है। तुम्हारे अलग हो जाने के बाद तुमने क्या किसी का लंड अपनी चूत में लिया है या फिर उंगली डालकर ही काम चलाया हो। मैं तो सिर्फ अपने लंड को हिलाकर काम चलाता हूं मै जब भी तुमसे बात करता हूं तो मुझे तुमसे बात करना बहुत ही अच्छा लगता है।

मनीषामैंने अपनी चूत के अंदर अपनी उंगली को घुसा लिया है मुझे बहुत ही अच्छा लग रहा है जब मैं अपनी चूत के अंदर बाहर अपनी उंगली को कर रही हूं वाकई में तुम बड़े ही कमाल की हो ऐसा लग रहा है जैसे कि तुमने मेरी चूत के अंदर अपने लंड को सेट किया है। तुम मेरी चूत पर अपने मोटे लंड को अंदरबाहर करते रहो जिस से कि मेरी गर्मी बढ़ती जा रही है।

मैंमैंने भी अपना लंड को बडे तेजी से हिलाना शुरू कर दिया उस पर मैंने तेल की मालिश कर दी है। मैं जब अपने लंड को हिला रहा हूं तो मुझे बहुत ही मजा आ रहा है मुझे ऐसा महसूस हो रहा है जैसे कि मैं अपने लंड को बस हिलाता ही जाऊं और अपने माल को बाहर गिरा दूं। मैं तुम्हारे बिना बिल्कुल भी नहीं रह पा रहा हूं और ऐसा लग रहा है बस तुम्हें धक्के देता रहूं क्या तुम घोड़ी बनोगी।

मनीषागौतम जो तुम कहोगे मैं वही करूंगा लो मैंने अपनी बडी चूतडो को तुम्हारी तरफ कर लिया है। अब तुम बताओ तुम्हें क्या करना है क्या तुम्हें मेरी चूत मारनी है। मैंने अपनी चूत के अंदर बैंगन को डाल लिया है ऐसा लग रहा है जैसे कि बैंगन नहीं तुम्हारा मोटा लंड हो जो मेरी चूत को फाड़ कर अंदर बाहर जा रहा है मुझे बहुत ही मजा आ रहा है और मेरे अंदर की गर्मी लगातार बढ़ती ही जा रही है।

मैंमैं तो तुमको हमेशा से ही चोदने के लिए तैयार हूं। मेरी पत्नी से मेरा डिवोर्स हुआ है तब से मैंने किसी की चूत की तरफ देखा भी नहीं है और ना ही मैं किसी को चोद पाया हूं लेकिन अब मुझे तुमसे बड़ी उम्मीद है जब तुम मेरे पास आओगे तो मैं तुम्हें उठा उठा कर चोदूंगा तुम्हें बहुत अच्छा लगेगा जब मै तुम्हारे साथ सेक्स का मजा लूंगा।

मनीषाअभी तो फिलहाल तुम मेरी चूत मारते रहो और मेरी चूत की खुजली को मिटाते रहो मेरी चूत से पानी बाहर निकल रहा है। मेरी गर्मी अब बहुत ही अधिक बढ़ने लगी है मुझे लग रहा है मेरी चूत से निकलता हुआ पानी कुछ ज्यादा ही अधिक हो चुका है कहीं ऐसा ना हो कि मैं जल्दी झड़ जाऊं। मैं आज बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं कर पाऊंगी मुझे आज बहुत अच्छा लग रहा है। आज मैंने अपनी चूत के अंदर बैंगन को घुसा लिया है मुझे बैंगन को घुसा कर बहुत मजा आ रहा है। मेरे अंदर की गर्मी बढ़ने लगी है मेरी चूत से पानी निकल आया है।

मैंमैंने अपने लंड से अपने माल को बाहर गिरा दिया है। आज तुम्हारे नाम की मुठ मारना बहुत ही मजेदार था। मुझे ऐसा लगता है जैसे कि तुम मेरे पास ही हो मुझे बहुत अच्छा लग रहा है जब मैं तुमसे बात करता हूं। आज तुमसे बात करके बहुत अच्छा लगा जिस प्रकार के आज मेरी गरमा गरम बातें हुई उससे मैं बहुत ही ज्यादा खुश हो गया था। चलो अब सो जाते है ऐसा लग रहा है जैसे कि तुम मेरे बगल में ही लेटी हुई हो।

मनीषाअब तो तुम्हारी इच्छा पूरी हो गई चलो अब मैं फोन रख देती हूं और तुमसे मैं बाद में बात करूंगी क्योंकि अभी मुझे सोना है। ठंड काफी ज्यादा हो गई है और मुझे बहुत ही गहरी नींद आ रही है फिलहाल में सो जाती हूं तुम से मैं बाद में बात करूंगी।

Tags: , , ,
error: