फोन सेक्स के दौरान दोस्त की बहन की सील टूटी

live sex, hindi sex talk

मेरा नाम राजीव है। मेरे पड़ोस में मेरे दोस्त की बहन शालिनी रहती है। एक बार मैंने शालिनी का रिचार्ज करवा दिया और उसका नंबर मेरे पास आ गया। उसके भाई ने ही मुझे उसका नंबर दिया था क्योंकि वह मेरा बहुत अच्छा दोस्त है और हर काम के लिए मुझे ही बोलता है। मेरी जब शालिनी से पहली बार फोन पर बात हुई तो हम दोनों ही खुलकर बात नहीं कर पा रहे थे लेकिन जब हम दोनों की बात दो चार बार हो गई तो उस बात को मैं आप लोगों से शेयर कर रहा हूं। मुझे लगता है आप लोगों को भी मेरी और शालिनी के बीच हुई बात अच्छी लगेगी।

मैंने शालिनी को सुबह के वक्त फोन किया और शालिनी ने मेरा फोन उठा  लिया।

शालिनी- हां राजीव बोलो क्या बात करनी है आज तुमने सुबह-सुबह ही फोन कर दिया।

मैं- अरे तुम कहां हो मेरा फोन तुमने कल रात को नहीं उठाया क्या बात है मुझसे कुछ नाराजगी हो गई क्या?

शालिनी- नहीं तुमसे कोई भी नाराजगी नहीं है मेरा तो तुम से बात करने का बहुत मन था लेकिन कल मेरी मम्मी मेरे साथ ही सो गई थी इसीलिए मैं तुमसे बात नहीं कर पाई।

मैं- अरे यार कल मेरा बहुत ज्यादा मूड खराब था और मेरा तुमसे बात करने का मन था।

शालिनी- मन तो मेरा भी बहुत था लेकिन मैं तुमसे बात नहीं कर पाई क्योंकि मुझे बहुत ज्यादा डर था की मम्मी कहीं सुन ना ले।

मैं- चलो कोई बात नहीं क्या आज तुम मुझसे बात करोगी?

शालिनी- हां मैं तुमसे बात करूंगी। मेरा भी तुमसे बात करने का मन होता है।

मैं- अरे यार कल रात को तुम्हें कुछ बात बतानी थी।

शालिनी- चलो ठीक है तुम मुझे रात को फोन करना और रात को ही तुम मुझे वह बात बताना। आज रात को मैं कोशिश करूंगी कि मैं अकेली ही सोऊ।

मैं- चलो ठीक है। तुम्हें आज शाम को फोन करता हूं। तुम मेरा फोन जरूर उठा लेना।

शालिनी- तुम चिंता मत करो मैं तुम्हारा फोन जरूर उठा लूंगी और हम लोग आज रात को फोन पर बात करेंगे।

मैं- चलो ठीक है मैं फोन रखता हूं क्योंकि मुझे कहीं जाना है इसलिए मैं तुम्हें आज रात को 10:00 बजे फोन करूंगा।

मैंने जब शालिनी को रात को 10:00 बजे फोन किया तो उसने मेरा फोन उठा लिया। हम दोनो के बीच जो सेक्सी बात हुई वह मै आपसे शेयर कर रहा हूं।

मैं- आज तो तुमने मेरा फोन उठा लिया।

शालिनी- अरे तुम्हारा फोन क्यों नहीं उठाती?

मैं- आज तुम्हारी मम्मी तुम्हारे साथ तो नहीं सो रही।

शालिनी- नहीं आज वह पापा के साथ ही सो रही हैं।

मैं- क्या बात आज वह तुम्हारे पापा के साथ सोई है क्या आज उनका मूड सेक्स करने का है?

शालिनी- तुम मुझसे इस प्रकार की बात मत किया करो मुझे बिल्कुल भी अच्छा नहीं लगता।

मैं- मैंने इसमें क्या गलत कहा मैंने सिर्फ यही तो पूछा कि क्या तुम्हारी मम्मी तुम्हारे पापा के साथ सोई हैं।

शालिनी- हां अगर वह सोई है तो तुम्हें किसी प्रकार की आपत्ति है क्या?

मैं- मुझे कोई भी आपत्ति नहीं है।

शालिनी- हां आज उनका मूड बहुत अच्छा था इसलिए उन्होंने आज नई साड़ी पहनी थी और पापा भी उन्हें देखकर बहुत खुश हो रहे थे।

मैं- क्या तुमने कभी अपने पापा मम्मी को सेक्स करते हुए देखा है।

शालिनी- हां मैंने उन्हें दो तीन बार सेक्स करते हुए देख लिया था। एक दिन तो मैंने अपने पापा का मोटा और कड़क लंड देखा। जब मैंने उनका लंड देखा तो मैं डर गई थी।

मैं- तुम्हारे पापा का लंड कितना मोटा होगा।

शालिनी- उनका कम से कम 10 इंच का तो होगा ही और उनका लंड बहुत ही मोटा और काला सा है।

मैं- मेरा भी बहुत ज्यादा मोटा और लंबा है।

शालिनी- तुम जब भी हमारे घर पर आते हो तो तुम्हारी बोलती बंद हो जाती है तुम कुछ भी नहीं बोल पाते।

मैं- तुम्हारा भाई भी तो मेरे साथ होता है मैं उसके सामने तुम्हें क्या बोलूं।

शालिनी- तुम्हारी गांड फटती है इसलिए तुम कुछ भी नहीं बोल पाते।

मैं- मेरी गांड बिल्कुल भी नहीं फटती। मैं तो तुम्हें चोदना चाहता हूं लेकिन तुम घर से बाहर ही नहीं निकलती।

शालिनी- अरे ऐसी कोई भी बात नहीं है मुझे भी तुम्हारे साथ सेक्स करना है लेकिन तुम्हें तो पता ही है मेरे घर में किस प्रकार का माहौल है। मुझे मेरे घरवाले बिल्कुल भी बाहर नहीं जाने देते।

मैं- आज तुमने कौन सी कलर की पैंटी और ब्रा पहनी है।

शालिनी- आज मैंने चटक लाल रंग की पैंटी और ब्रा पहनी है।

मैं- क्या तुम्हारी पैंटी ब्रा में नेट भी लगा हैं या फिर प्लेन वाली है।

शालिनी- मेरी नेट वाली पैंटी है। मुझे वह बहुत अच्छी लगती है क्योंकि उसमे हवा भी आर पार हो जाती है और देखने में भी बहुत सेक्सी लगती है।

मैं- तुम्हारी योनि किस प्रकार की है।

शालिनी- मेरी योनि थोड़ी लंबी सी है क्योंकि अभी तक उसके अंदर किसी का भी लंड नहीं घुसा है इसलिए मेरी योनि सिल पैक और सपाट है।

मैं- यार कभी तुम मुझे अपनी चूत के दर्शन तो करवा दो तभी तो मुझे भी पता चलेगा कि किस प्रकार की तुम्हारी योनि है।

शालिनी- तो तुम थोड़ा हिम्मत दिखाओ तभी तो मैं तुम्हें अपनी चूत दिखा पाऊंगी नहीं तो तुम सिर्फ अपने लंड को हिलाते रह जाना।

मैं- मैं तुम्हें जरूर चोद कर रहूंगा तुम उसकी चिंता मत करो। शालिनी- तुम्हारा लंड तो बहुत ही बड़ा होगा।

मैं- हां मेरा कम से कम 10 इंच का तो है ही।

शालिनी- मेरी योनि से पानी निकलने लगा है क्या तुम मेरे पानी को अपने मुंह में लेकर चाटोगे।

मैं- मैं तो तुम्हारी योनि को ही पूरा कच्चा चबा जाऊंगा और तुम्हारा पानी पूरा एक ही झटके में अपने अंदर ले लूंगा।

शालिनी- मैंने अपनी चूत के अंदर एक उंगली को डाल दिया है।

मै- मैंने भी अपने लंड को अपने हाथों से पकड़ा हुआ है।

शालिनी- उस पर तुम सरसों का तेल लगा लो और उसे अच्छे से लगा लो।

मैं- मैंने सरसों का तेल लगा लिया और अपने लंड पर तेल से अच्छे से मालिश कर रहा हूं।

शालिनी- मैं भी अपनी चूत के अंदर उंगली डाल रही हूं और मुझे बहुत अच्छा महसूस हो रहा है।

मैं- तुमने कितनी उंगली अपनी चूत के अंदर डाली हुई है।

शालिनी- मैंने अपनी योनि के अंदर एक उंगली डाली हुई है और अपनी उंगली को अपनी योनि के अंदर बड़े अच्छे से डाल रही हू। जिससे कि मेरी योनि से पानी बाहर की तरफ को निकल रहा है।

मैं- मेरा लंड पूरे तरीके से चिकना हो चुका है और मैं अपने लंड को हिलाए जा रहा हूं।

शालिनी- क्या तुम्हारा लंड बहुत ज्यादा चिकना हो चुका है।

मैं- हां मेरा लंड इतना ज्यादा चिकना हो चुका है कि तुम मेरे पास होती तो मैं तुम्हारी चूत के अंदर अपना लंड डाल देता।

शालिनी- मेरी चूत से खून भी निकल रहा है। मुझे बहुत ज्यादा डर लग रहा है।

मैं- लगता है तुम्हारी सील टूट चुकी है।

शालिनी- क्या वाकई में मेरी सील टूट चुकी है।

मैं- हां आज तुम्हारी सील टूट चुकी है।

शालिनी- मुझे बहुत ही अच्छा लग रहा है जब मैं अपनी  उंगली को अंदर तक डाल रही हू।

मैं- तुम्हें तो अच्छा लगेगा ही क्योंकि तुम्हारी चिकनी और मुलायम चूत को मैं देख नहीं पा रहा हूं लेकिन उसके बावजूद भी तुम्हें फील कर रहा हूं।

शालिनी- लगता है अब तुम्हारे पास मुझे अपनी चूत मरवाने के लिए आना पड़ेगा।

मैं- मेरा लंड तो पूरा चिकना हो चुका है और ऐसा लग रहा है। जैसे किसी ने उस पर पोलिस कर दी हो और बहुत ज्यादा चमकने लगा है।

मैं- शालिनी मेरा गिरने वाला है।

शालिनी- बेबी तुम मेरे मुंह के अंदर ही अपने वीर्य को गिरा दो। मैं- तुम अपना मुंह खोलो और मेरे लंड को फील करो।

शालिनी- हां मैंने अपना मुंह खोल लिया है। मैंने अपनी चूत के अंदर दो उंगलियों को डाल दिया है मुझे बहुत अच्छा लग रहा है।

मैं- तुम अपने मुंह को खोल कर रखो मेरा वीर्य तुम्हारे मुंह के अंदर ही जाने वाला है।

शालिनी- क्या तुम्हारा अब झड़ चुका है।

मैं- हां मेरा झड़ चुका है और मुझे बहुत ही अच्छा लग रहा है।

शालिनी- मैंने तुम्हारे चिकने और मुलायम लंड को अपने गले के अंदर तक ले कर रखा था और मेरी योनि से भी अब पानी बाहर की तरफ को निकलने लगा है।

मैं- कभी तुम मुझसे मिलने भी आ जाओ। उसके बाद मैं तुम्हें बताता हूं कि जन्नत क्या होती है।

शालिनी- मेरा भी झड़ चुका है। मैं बहुत ज्यादा थक गई हूं इसलिए मैं फोन रखती हूं और तुमसे कल बात करती हूं। मुझे बहुत ही अच्छा लगा आज तुम्हारे साथ सेक्स करके। हम लोग कल से भी ऐसे ही फोन सेक्स किया करेंगे।

उसके बाद मैंने शालिनी को चोदकर प्रेगनेंट भी कर दिया। हम दोनों अब भी फोन सेक्स करते रहते हैं। शालिनी और मेरे बीच में इतने अच्छे से बात होती है कि मेरा पानी उससे बात करते ही छूट जाता है।

Tags: , , ,
error: