फोन पर गरमा गरम बाते भाभी संग

Antarvasna, hot sex chat: कुछ दिनों के लिए मैं अपने दोस्त के पास चंडीगढ़ गया हुआ था मेरा दोस्त जो कि पहले दिल्ली में ही पढ़ा करता था लेकिन अब वह चंडीगढ़ में ही अपनी फैमिली के साथ रहता है। मैं कुछ दिनों तक चंडीगढ़ में ही रुक गया था मुझे लग रहा था कि मुझे चंडीगढ़ में ही रहना चाहिए। मुझे नहीं पता था कि जब चंडीगढ़ में मैं रुकूंगा तो उस दौरान मेरी मुलाकात ममता भाभी से होगी ममता भाभी जो कि मेरे दोस्त राजेश के घर के बगल में ही रहती थी वह अक्सर राजेश के घर पर आया करती थी। मैं उन्हें जब भी देखता तो मुझे अच्छा लगता और वह मुझसे बड़ी अच्छे से बातें किया करती कुछ दिनों तक मैं अपने दोस्त के घर पर ही था फिर मैं वापस दिल्ली लौट आया दिल्ली लौटने के बाद अब मैं अपने काम पर ध्यान देने लगा था भैया चाहते थे कि मैं और वह मिलकर कोई बिजनेस शुरू करें अब हम लोगों ने अपना बिजनेस शुरू कर लिया था भैया और मैं पूरी मेहनत के साथ काम कर रहे थे इसलिए इस बीच मै किसी से भी बात नहीं कर पाया और मेरा किसी से भी कोई संपर्क नहीं हो पाया। एक दिन मैं अपने घर लौटा तो उस दिन जब भैया ने मुझे फोन कर कहा कि रोहित आज हम लोग पार्टी में जा रहे हैं। मैंने भैया से कहा भैया मेरा आज मन नहीं है आप लोग चले जाओ। भैया कहने लगे ठीक है रोहित मै और तुम्हारी भाभी चले जाते हैं तुम घर पर क्या अकेली ही रहोगे? मैंने भैया से कहा हां क्योंकि पापा और मम्मी भी मामा जी के घर गए हुए थे इसलिए मैं घर पर अकेला था उस दिन वह घर पर अकेले थे तो मेरा टाइम पास नहीं हो रहा था मैंने उस दिन बाहर से ही खाना मगवा लिया था और मैं अपने बिस्तर मे लेटा हुआ था मैं सोचने लगा मैं किसे फोन करूं शायद मेरी किस्मत में ममता भाभी से बात करना लिखा था उन्होंने मुझे उस दिन फोन कर दिया जब उन्होंने मुझे फोन किया तो हम दोनों की बातें होने लगी।

मैंममता भाभी आज आपने मुझे फोन कैसे कर दिया मैंने तो कभी सोचा भी नहीं था कि आप मुझे कभी फोन करेंगी मुझे तो लगा था कि आप मुझे भूल गई होंगी लेकिन आज आपने मुझे फोन करके मेरी खुशी को बहुत बड़ा दिया है।

भाभीलेकिन ऐसी क्या बात है मैं तुमसे बात नहीं कर सकती अगर मैंने तुम्हें फोन कर दिया तो मैंने तुम्हें अपना समझ कर ही फोन किया होगा मेरा भी तुमसे बात करने का बहुत मन था और सोचा कि आज तुम्हें फोन करूं तो मैंने तुम्हें फोन कर दिया। वैसे तुम मुझे हमेशा याद आते हो और मैं जब भी तुम्हारे बारे में सोचती हूं तो मै बहुत ज्यादा खुश हो जाती हू और मुझे लगता है मुझे तुमसे हर रोज बात करनी चाहिए।

मैंमैं तो आज घर पर अकेला ही हूं क्योंकि भैया और भाभी अपने किसी फ्रेंड की पार्टी में गए हुए हैं मैं आज घर पर अकेला हूं। पापा मम्मी भी घर पर नहीं है क्या आज आप भी घर पर अकेली है या फिर आपके पति आज घर पर है।

भाभीनहीं मैं अकेली हूं क्योंकि मेरे पति आज घर पर नहीं है वह किसी जरूरी काम से गए हुए हैं वह 2 दिनों बाद वहां से लौटने वाले हैं। मैंने भी सोचा कि आज तुमसे बात कर लू वैसे भी मेरा आज बिल्कुल मन नहीं लग रहा था मैं आज सोच रही थी कि किसी से बात करूं क्योंकि आज मेरा मूड कुछ ठीक नहीं था मुझे अपने पति की बड़ी याद आ रही थी और मुझे किसी से बात करनी थी। मैंने अपने पति को आज फोन किया था लेकिन वह कहने लगे अभी मैं कहीं बैठा हूं तुमसे बाद में बात करता हूं इसलिए मैंने आज तुम्हें फोन कर दिया।

मैंआपको मेरा नंबर कहां से मिला?

भाभीतुम्हारा नंबर तो मेरे पास पहले से ही था मैंने तुम्हारा नंबर तुम्हारे दोस्त से लिया था और सोच रही थी कि कभी तुम से बात करू लेकिन समय ही नहीं मिल पाता था परंतु आज मुझे एहसास हुआ कि मुझे तुमसे बात करनी चाहिए तो मैंने तुम्हें फोन कर दिया। मैं बहुत अकेली थी मुझे बहुत अकेला सा महसूस हो रहा था इसलिए मैंने तुम्हें फोन किया कहीं मैंने कुछ गलत तो नहीं किया।

मैंभाभी आप कैसी बात कर रही हैं भला आप क्यों गलत करेंगी मुझे तो बहुत ही अच्छा लग रहा है मैं आपसे बात कर रहा हूं। मैं तो आपको देखते ही हमेशा खुश हो जाता था मैं आपके साथ ज्यादा समय नहीं बता पाया लेकिन फिर भी जब भी मैं आपके बारे में सोचता हूं तो मैं बहुत ही खुश हो जाता हूं और मेरा मन करता है कि आपको गले लगा लू लेकिन यह संभव नहीं हो सकता क्योंकि आपकी शादी हो चुकी है।

भाभीरोहित इसमें शादी वाली क्या बात है तुम तो जानते ही होगी मैं बहुत ही खुले विचारों की हूं अगर तुम मुझे गले लगा लोगे तो इसमें क्या हो जाएगा। मैं बहुत ही बिंदास महिला हूं लेकिन तुम मुझे समझ नहीं पाए क्योंकि तुम मेरे साथ ज्यादा समय नहीं बिता पाए इसीलिए हम लोगों की बातें नहीं हो पाई अगर ऐसा होता तो मैं क्या तुम्हें कभी फोन करती। मेरा मन तुमसे बात करने का था इसीलिए तो मैंने तुम्हें फोन किया था मुझे तुमसे बात करना हमेशा ही अच्छा लगता है यह पहला मौका है मैं तुम्हें फोन कर रही हूं लेकिन फिर भी मैं तुम्हारे बारे में हर रोज सोचा करती थी मैं तुमसे बात करूं लेकिन मुझे वाकई में मौका नहीं मिल पाया था आज मुझे मौका मिला है मै तुमसे जी भर कर बात करना चाहती हूं।

मैंअगर ऐसी बात है तो माफी मुझे भी आपसे बात करना बहुत अच्छा लगेगा वैसे मैं आप को गले लगा कर आपको अपनी बाहों में समा ना चाहता हूं कहीं इसमें कुछ गलत तो नहीं है कि आप मेरे बारे में कहीं गलत समझने लगे और फिर कहेंगे मैं फोन रख देती हूं वैसे मैं आपके लिए बहुत ही ज्यादा तड़पता हूं और जब भी मैं आपसे बात करता हूं तो मुझे बहुत ही अच्छा महसूस होता है।

भाभीमुझे भी तुमसे बात करना हमेशा ही अच्छा लगता है तुमसे बात कर के मेरी चूत से पानी बाहर निकल रहा है आज तुमसे बात करके ऐसा लग रहा है जैसे कि तुम मेरे सामने बैठे हो और तुम अभी मेरे स्तनों को दबा रहे हो मैं अपनी चूत की खुजली को तुम से मिटाना चाहती हूं। मैंने अपनी चूत के अंदर बैंगन को डाल लिया है और ऐसा लग रहा है जैसे कि मैं तुम्हारे लंड को अपनी चूत में ले रही हूं।

मैंभाभी आप तो सीधा ही गरम बातों पर उतर गई मुझे तो लगा था कि मैं आपसे आपके फिगर का साइज पूछूगा लेकिन फिलहाल यह पूछने का वक्त नहीं है मैंने अपने लंड को बाहर निकाल लिया है अब उस पर में तेल की मालिश कर रहा हूं मुझे ऐसा लग रहा है कि मेरा लंड पूरी तरीके से चिकना हो चुका है अब वह अपकी चूत के अंदर जाने के लिए तड़प रहा है क्या मैं आपकी चूत में लंड को घुसा दू?

भाभीतुम अपने मोटे लंड को मेरी चूत के अंदर डाल लो और मेरी इच्छा को पूरा कर दो मैं बहुत ही ज्यादा तड़प रही हूं मुझे ऐसा लग रहा है जैसे कि मैं अपनी चूत की खुजली को आज मिटा देना चाहती हूं। मैंने अपनी चूत में बैंगन को घुसा लिया है और ऐसा लग रहा है जैसे कि मैं तुम्हारे लंड को चूत में ले रही हूं वैसे तुम्हारा लंड कितना मोटा है मेरे पति के लंड की मोटाई बहुत ज्यादा है और उनकी लंबाई बहुत ज्यादा है जब वह मुझे उठा कर चोदते हैं तो मुझे मजा आ जाता है।

मैंमेरे लंड की मोटाई बहुत ज्यादा है जब भी मैं किसी लड़की को चोदता हूं तो मेरे अंदर की आग बढ़ जाती है और मैं पूरी तरीके से खुश हो जाता हूं आप कहे तो आपकी चूत को मै चाटकर रख देता हूं आपको बहुत ही अच्छा लगेगा वैसे आप से बात कर के मुझे लग रहा है कि कहीं मेरा माल बाहर ना आ जाए और मुझे लग रहा है कि जल्दी मेरा माल भी बाहर की तरफ को गिरने वाला है।

भाभीमैं तो पूरी तरीके से संतुष्ट हो चुकी हू और मैं झड चुकी हूं।

मैंभाभी मेरा भी माल गिर चुका है और आज आपसे बात करके बहुत अच्छा लग रहा है।

हम लोगों की उसके बाद भी कई बार फोन पर बातें होती रही लेकिन पहली बार जो हमारी बातें हुई मैंने कभी सोचा नहीं था पर भाभी ने मेरे बदन को पूरी तरीके से गर्म कर के रख दिया था।

Tags: , , ,
error: