मुझे बोली तुम्हारी तो गांड फटती है

Antarvasna, online sex chat: दोस्तों मै बस के सफर के दौरान अकेला बैठा हुआ था आसपास मेरे बुजुर्ग बैठे हुए थे। मैं सोचने लगा ऐसे तो सफर का कोई मजा आने वाला नहीं है इसलिए मैंने अपने कान में हेडफोन लगा लिए मैं अपने मोबाइल में गाने सुनने लगा तभी एकाएक मेरे सामने एक लड़की आ गई। मुझे नहीं पता था कि वह मेरे साथ ही बैठने वाली है वह मेरे साथ बैठी थी। मैं उसकी तरफ देखता ही रह गया उसकी सुंदरता को देखकर मैं उसका दीवाना हो गया था उसके उभरे हुए स्तन और उसकी बड़ी गांड को देख कर मेरा लंड खड़ा होने लगा था मैं सिर्फ उसे ही देखे जा रहा था। उसने जो चश्मे पहने हुए थे उसमें वह किसी हीरोइन से कम नहीं लग रही थी। मैं एक सिंपल साधारण सा लड़का हूं मैं जब उस लड़की की तरफ देखता तो मैं सोचने लगा कि क्या उस से मै बात कर पाऊंगा। मेरी उससे बात तो नहीं हो पाई परंतु एक बात ही अच्छी रही मुझे उस लड़की का नंबर मिल चुका था। जब मुझे उसका नंबर मिला तो मैं खुशी से झूम उठा मैंने कभी कल्पना भी नहीं की थी कि मुझे उसका नंबर मिल जाएगा। मेरे लिए इससे ज्यादा खुशी की बात कुछ भी नहीं थी। मुझे जब अनामिका का नंबर मिला तो मैं बहुत ज्यादा खुश हो गया उसकी कल्पना से ही मेरा माल बाहर निकाल जाता। मैं सोचता यदि मैं अनामिका को सचमुच में चोदता तो ना जाने क्या होगा क्योंकि अनामिका का बदन इतना लाजवाब था। अनामिका का नंबर तो मुझे किसी प्रकार से मिल चुका था अब बारी थी कैसे मैं उससे बात करता हूं। रात के वक्त मैंने अनामिका को फोन कर दिया जब मैंने अनामिका को फोन किया तो मेरी गांड फटने लगी थी मेरे अंदर बिल्कुल भी हिम्मत नहीं थी कि मैं उससे बात करता आखिरकार मैंने उसे हिम्मत करते हुए बात करना शुरू कर दिया। जब मैंने अनामिका से बात की तो मैं बहुत खुश था अनामिका से जब मैं बात कर रहा था तो उसके और अपने बीच हुई बात को आपको बताता हूं।

मैं- हेलो।

अनामिका- कौन?

मैं- मैं संतोष बोल रहा हूं तुमने मुझे पहचाना।

अनामिका- कौन संतोष मैंने तुम्हें नहीं पहचाना।

मैं- इतनी जल्दी मुझे भूल गई मैं तुम्हें बस में मिला था।

अनामिका- ऐसे तो मुझे ना जाने कितने लोग मिलते रहते हैं क्या मैं सबको जानती हूं।

मैं- मैंने तुम्हारा नंबर ले लिया था मुझे लगा कि तुम से बात कर लूं।

अनामिका- जब तुम मेरे साथ बैठे हुए थे तब तो तुम्हारी गांड फट रही थी तब तो तुम मुझसे बिल्कुल भी बात नहीं कर पा रहे थे, अब तुम बड़े शेर बने हुए घूम रहे हो।

मैं- अनामिका तुमने क्या कहा?

अनामिका- तुमने सुना नहीं मैंने कहां की तब तो तुम्हारी गांड फटी हुई थी।

मै-  मुझे मालूम चल गया तुम मुझसे बात करने के मूड में हो।

अनामिका- अब तुम्हे इतना पता चल चुका है मैं तुमसे बात करने के मूड में हो तो तुम यह भी बता दो मैं अभी अपने दिमाग में तुम्हारे बारे में क्या सोच रही हूं?

मैं -अनामिका फिलहाल तो मुझे तुमसे बात करने का मन हो रहा है मैंने सोचा कि तुमसे बात कर लेता हूं क्या मैंने कुछ गलत किया।

अनामिका- नहीं तुमने कुछ गलत नहीं किया जब तुम मेरे साथ बैठे हुए थे तो तुमने मुझसे क्यों बात नहीं की तुम्हें मुझसे बात करनी चाहिए थी।

मैं- अनामिका सोच तो रहा था कि तुमसे बात करूंगी मेरे अंदर बिल्कुल भी हिम्मत नहीं हुई मेरी वाकई में गांड फटी हुई थी।

अनामिका- गांड तो लड़कियां मरवाती है और तुम लड़के होकर अपनी गांड फडवा रहे हो बताओ अब ये कैसे संभव हो सकता है।

मैं- मुझे तो तुम्हारी बात सुनकर ही हंसी आ रही है मै सोच रहा हूं तुम कितनी बिंदास लड़की हो लेकिन मैं तुमसे बात ही नहीं कर पाया शायद यह मेरी गलती है मैं तुमसे बात नहीं कर पाया।

अनामिका- चलो यह बात अब जाने भी दो तुम यह बताओ तुम क्या करते हो?

मैं- अनामिका फिलहाल तो तुम यह बात भूल जाओ और इस बारे में हम लोग बाद में बात करेंगे। पहले तुम यह  बताओगे आज तुमने अपने बदन को कौन से कपड़ों से ढका हुआ है और तुमने आज कौन से रंग के अंतर्वस्त्र पहने हुए हैं?

अनामिका- अच्छा तो तुम सीधा ही मुद्दे की बात पर आ गए मुझे ऐसे ही लोग पसंद है जो सीधा ही मुद्दे की बात करते हैं तुमने बात को घुमाया नहीं इसलिए मैं तुमसे आज खुलकर बात करूंगी, मैंने अभी पिंक पैंटी और ब्रा पहनी हुई है मैंने वाइट कलर का लोअर और ब्लू कलर की टी-शर्ट पहनी हुई है।

मैं- अनामिका मैं सोच रहा हूं कि तुम कितने अच्छी लग रही होंगी मेरा मन तो कर रहा है कि तुम्हारे बड़े स्तनों को महसूस कर लू। वैसे मैंने तुम्हारे स्तनों का नाप तो ले लिया था पर यदि तुम अपने मुंह से बता दोगे तुम्हारे स्तनों का क्या नंबर है तो मेरा दिल खुश हो जाएगा।

अनामिका- मेरे स्तनों का साइज 32 बी है और मेरे हिप्स का साइज 38 है।

मैं- तुम्हारे हिप्स बड़े मोटे हैं मुझे लग रहा है तुम्हारी गांड मारनी ही पड़ेगी।

अनामिका- तुम मेरी गांड मार लो तुम्हें किसने मना किया है आ जाओ मैं अपनी गांड खोल कर बैठी हूं। तुम्हें मेरी गांड का नंबर तो पता चल चुका होगा मैं तुम्हारा इंतजार कर रही हूं बताओ कब तक आओगे और कब मेरी गांड के मजे लोगे।

मैं- मैं तो अभी तुम्हारी गांड मारना चाहता हूं बताओ तुम अपनी गांड मरवाने का मौका मुझे दोगी या फिर मुझे थोड़ा इंतजार करना पड़ेगा।

अनामिका- तुम्हें बिल्कुल भी इंतजार नहीं करना पड़ेगा पर पहले तुम यह तो बताओ कि तुम्हारा मोटा लंड कितना बड़ा है मैं देखना चाहती हूं कि तुम्हारे लंड की मोटाई कितनी है काश कि उस दिन तुम मेरे बदन को छू लेते तो मैं तुम्हें अपना पूरा बदन सौंप चुकी होती।

मैं- अनामिका इस बात को तुम जाने दो फिलहाल तो मैं तुम्हारे बड़े स्तनों का रसपान करना चाहता हूं और मेरा लंड 10 इंच का है। अब तुम यह बताओ कि क्या तुम मेरे लंड को अपनी चूत के अंदर लोगी?

अनामिका- क्यों नहीं मैं तुम्हारे लंड को जरूर अपने मुंह के अंदर लूंगी और तुम्हारे लंड को चूसकर तुम्हारे लंड का सारा पानी बाहर निकाल कर रख दूंगी फिर उसे चूत मे ले लूंगी।

मैं- अनामिका जल्दी से करो मेरा लंड तुम्हारा इंतजार कर रहा है मैं भी तुम्हारे स्तनों का रसपान कर रहा हूं। तुम्हारे स्तनों को मुझे चूसने में बड़ा मजा आ रहा है मै अपने लंड को जिस प्रकार से अपने हाथ से हिला रहा हूं उससे मेरा मोटा लंड तन कर खड़ा हो चुका है और मुझे बड़ा ही अच्छा महसूस हो रहा है।

अनामिका- तुम मेरे स्तनों को ऐसे ही चूसते रहो मुझे बड़ा मजा आ रहा है और ऐसा लग रहा है जैसे कि तुम मेरे स्तनों को कहीं खा ना जाओ।

मैं- अनामिका तुम्हारे स्तनों को तो खाने का मेरा बड़ा मन है और तुम्हारे दूध को फिलहाल मैंने बाहर निकाल दिया है तुम्हारी चूत के अंदर भी अब मैं उंगली डालने वाला हूं।

अनामिका- जल्दी से मेरी चूत के अंदर उंगली डाल दो मेरी चूत पूरी तरीके से गिली हो चुकी है। हम दोनों सेक्स का मजा लेते हैं मैं तुम्हारे लंड को अपने मुंह में ले लेती हूं और तुम्हारी चूत को अपने मुंह से ले रही हूं।

मैं- हां मैं तैयार हूं मैं तुम्हारी चूत को सहला रहा हूं तुम जिस प्रकार से मेरे लंड को चूस रही हो मुझे बड़ा मजा आ रहा है। मैं ऐसा ही चाहता था कि ऐसे किसी के साथ में सेक्स का मजा ले पाऊं मुझे तुम्हारे साथ बड़ा मजा आ रहा है।

अनामिका- तुम मेरी चूत के अंदर अपने लंड को घुसा दो मैं इंतजार कर रही हूं।

मैं- लो तुम्हारी चूत के अंदर अपने 10 इंच मोटे लंड को डाल दिया मेरा लंड तुम्हारी चूत के अंदर तक जा चुका है।

अनामिका- तुम्हारा लंड तो बड़ा ही मोटा है मुझे ऐसा लग रहा है जैसे कि तुम्हारा लंड मेरे गले के रास्ते से बाहर ना आ जाए तुम्हारे लंड ने तो मेरी चूत पूरी तरीके से फाड कर रख दी है और मुझे बहुत ज्यादा जोश में लाकर खड़ा कर दिया है।

मैं- मुझे भी तो तुम्हें चोदने में बड़ा मज़ा आ रहा है और तुम्हारी टाइट चूत को धक्के मारने में मुझे इतना आनंद आ रहा है ऐसा लग रहा है जैसे सिर्फ धक्के मारते रहूं।

अनामिका- जिस प्रकार से तुम मुझे धक्के मार रहे हो मुझे बहुत मजा आ रहा है ऐसे ही तुम मुझे धक्के मारते रहो ताकि मेरी चूत का भोसड़ा बन सके और तुम्हारे लंड से तुम्हारा माल बाहर निकल पाए।

मैं- मेरा तो माल गिर चुका है मुझे लग रहा है तुम्हारी चूत से भी पानी कुछ ज्यादा ही बाहर की तरफ रिसाव होने लगा है।

अनामिका- हां मेरी चूत से कुछ ज्यादा ही पानी बाहर की तरफ को निकल रहा है लेकिन आज तुम्हारे साथ बात करने में मजा आया।

अनामिका से उसके बाद मेरी कभी बात नहीं हो पाई वह हमारी पहली और आखरी ही बात थी उस दिन के बाद अनामिका का नंबर कभी लगा ही नहीं था।

Tags: , , ,
error: