मै घर पर अकेली हूं

Indian sex chat, hindi sex talk: मेरी मुलाकात रेखा से बड़ी ही अजीब ढंग से हुई रेखा का पर्स उस बस में छूट गया था जिस बस में मैं सफ़र कर रहा था। उसी पर्स के माध्यम से मुझे उसका नंबर भी मिला मैंने जब रेखा को फोन किया तो उसने मुझे अपने घर बुलाया मैंने उसका पर्स लौटाया लेकिन जब उसके हसीन बदन को मैंने देखा तो मैं अपने आपको रोक ना सका। मैं सोचने लगा क्या मैं रेखा से बात कर पाऊंगा लेकिन मेरे अंदर इस बात को लेकर ना जाने कहां से हिम्मत आई और मैंने रेखा को फोन करना शुरू कर दिया। रेखा से मेरी बातें होने लगी थी रेखा भी बहुत खुश होती जब मैं उससे बात किया करता हम दोनों घंटों बात किया करते थे। अब हम दोनों के बीच अच्छी दोस्ती हो चुकी थी लेकिन इसी बीच रेखा अपनी बहन के साथ मुंबई चली गई रेखा की नौकरी मुंबई में लग चुकी थी अब वह मुंबई में ही रहने लगी थी। मेरा दिल टूट चुका था मैं सोचने लगा काश मै रेखा से मिल पाता लेकिन ऐसा हो न सका क्योंकि रेखा बहुत बिजी होने लगी थी वह मुझसे फोन पर बातें नहीं करती थी। मैं भी अपनी जिंदगी में उलझनो को सुलझाने पर लगा था मेरे पास भी शायद समय नहीं था इसीलिए तो मैं रेखा से बात नहीं करता था परंतु एक दिन रेखा का मुझे फोन आया। उस दिन जब उसका फोन मुझे आया तो मैंने भी सोचा कि आज रेखा से बात कर ही लेता हूं और रेखा से मैंने बात की जब हम दोनों की बातें हुई तो मुझे बहुत अच्छा लगा जिस प्रकार से रेखा मुझसे बात कर रही थी मैं बहुत ज्यादा खुश हो गया था। रेखा से जब मैं बात कर रहा था तो बात बहुत आगे बढ़ गई और ना जाने उस दिन मैंने रेखा से लंड चूत की बात की परंतु उस दिन की बात मैं आपको बताता हूं मुझे बहुत मजा आया था जिस प्रकार से रेखा से मैंने बातें की थी।

मैं- रेखा तुम कैसी हो? आज इतने समय बाद तुमने मुझे फोन किया मैं तो बहुत खुश हो गया मैंने कभी उम्मीद भी नहीं की थी कि तुम्हारा फोन इतने समय बाद मुझे आएगा।

रेखा- शैलेश तुम इस बारे में छोड़ो मुझे यह बताओ तुम ठीक हो? मैं काफी समय से तुम्हें फोन नहीं कर पाई लेकिन ऐसा नहीं है मैं तुम्हारे बारे में हर रोज सोचा करती थी आज मुझे समय मिला और मैं आज घर पर ही थी तो सोचा तुम्हें फोन कर लू दीदी भी अंबाला आई हुई हैं। मेरा मन तुमसे बात करने का हो रहा था तो तुमसे बात करके मुझे अच्छा लग रहा है।

मैं- मैं तो अच्छा हूं लेकिन तुम यह बताओ इतने समय से तुम कहां थी तुमने तो मेरे मैसेज का रिप्लाई करना बंद कर दिया था मुझे लगा था कि शायद तुम मुझसे बात भी नहीं करोगी।

रेखा- नही शैलेश ऐसा बिल्कुल भी नहीं है मैं सोच रही थी कि तुमसे बात करूं लेकिन वाकई में मुझे समय नहीं मिल पाया और दीदी भी मरे साथ रहती है दीदी के सामने मैं तुम से कैसे बात कर सकती हूं इसलिए मैं तुम्हें फोन नहीं करती थी लेकिन अब जब मुझे समय मिला है तो मैंने फोन किया। मुझे तुमसे बात कर के अच्छा लग रहा है मैं हर रोज तुम्हारे बारे में सोचा करती।

मैं- मुझे भी तुमसे बात कर के वाकई में अच्छा लग रहा है इतने समय बाद कम से कम तुमने मुझे याद तो रखा।

रेखा- यह बात छोड़ो मुझे यह बताओ तुम कह रहे थे तुम मुंबई आने वाले हो क्या तुम मुंबई नहीं आ रहे हो? मैं तो सोच रही थी हम दोनों इतने समय बाद मिलेंगे तो मैं तुम्हें अपने घर पर बुलाऊंगा लेकिन तुमने तो मुझे फोन ही नहीं किया।

मैं- रेखा में आने के बारे में सोच रहा था लेकिन आ नहीं पाया क्योंकि समय नहीं मिल पाया। मैं इसी वजह से आ नहीं पाया लेकिन आज तुमसे बात कर के मुझे अच्छा लग रहा है और इस बात की भी खुशी है कि तुमने मुझे इस लायक तो समझा कि यदि मैं वहां आ जाऊं तो तुम मुझे अपने पास मिलने के लिए बुलाती वैसे अगर मैं तुम्हारे पास आता तो और मै क्या करते?

रेखा हर बात नहीं तुम्हें बताऊंगी क्या तुम भी तो मुझसे बात कर सकते हो और तुम्हें भी पता है कि हम लोग क्या करते हैं।

मैं लगता है आज तुम को ज्यादा ही मूड में नजर आ रही हो आज तक तो तुमने मुझसे कभी इस प्रकार की बातें नहीं की पर आज क्या हुआ मैं तुम्हारी बातों का मतलब समझ रहा हूं।

रेखा मुझे पता है कि आज मैं तुमसे कुछ खुल कर बात कर रही हूं लेकिन मेरी भी तो जवानी है और मैं मरा अपनी जवानी को कैसे बर्बाद होने दो मेरे अंदर की गर्मी को भी तो मैं बाहर निकालना चाहती हूं और तुमसे अच्छा मुझे कोई नहीं लगा जो मेरी इस गर्मी को बाहर निकाल पाए।

मैं मुझे तो बस तुमसे बात कर कर ऐसा लग रहा है जैसे कि तुम्हारी च** से कुछ ज्यादा ही पानी निकलने लगा है खैर तुम्हें बात छोड़ो और मुझे यह बताओ कि आज तुमने पहना क्या है और तुम आज अपने फिगर का साइज भी मुझे बताओ।

रेखा मेरा फिगर 34 28 और 36 है मैंने आज लाल रंग की पेंटी ब्रा पहनी हुई है और फालतू में अपनी च** के अंदर उंगली डाल रही हो और अपने स्तनों को दबा रही हो मैं नंगी लेटी हुई हूं और मुझे लग रहा है कि तुम आज मेरी इच्छा को पूरा कर दोगे मेरी सोच से कुछ ज्यादा ही पानी बाहर की तरफ को निकाला है।

मैं क्यों नहीं रखा मैं तुम्हारी च** की खुजली को आज पूरा मीठा करा दूंगा और मैं तो हमेशा से ही हो सोचता था कि तुम एक सीधी-सादी लड़की हो लेकिन मैं जब पहली बार तुम्हारा युवान को देखा था तो उसी वक्त मैंने तुम्हें छोड़ने के बारे में सोच लिया था लेकिन मैंने कभी भी तुमसे इस प्रकार की बातें नहीं की परंतु आज जब मेरे हाथ मौका लगा है तो भला मैं इस मौके को कैसे छोड़ सकता हूं।

रेखा- तुम्हें मौका छोड़ने को कौन कह रहा है जल्दी से तुम इस मौके को लपक लो और मेरी चूत की खुजली को मिटा दो मैंने तो अपनी चूत के अंदर उंगली को डाल लिया है।

मैं- मैंने भी अपने लंड को बाहर निकाल लिया है और उसे हिलाना शुरू कर दिया है मुझे अपने लंड को हिलाने में मजा आ रहा है और तुम से जिस प्रकार की बातें कर रहा हूं उससे मुझे बहुत मजा आ रहा है। मेरा लंड भी हल्का पानी बाहर की तरफ को छोड़ने लगा है।

रेखा- अच्छा तो तुम्हारा लंड भी पानी बाहर छोडने लगा है मेरी चूत से भी पानी बहुत निकल रहा है। तुम मुझे बताओ मैं अपनी चूत के अंदर क्या डालू जिससे कि मेरी खुजली आज मिट सके?

मैं- रेखा तुम अपनी चूत के अंदर आज केले को डाल लो केले को तुम अपनी चूत के अंदर डालोगे तो तुम्हें बहुत मजा आएगा और तुम बहुत खुश हो जाओगी।

रेखा- मैंने तो फिलहाल अपने दोनों पैरों के बीच में तकिया को रखा हुआ है और उस तकिए को मैं दबा रही हूं लेकिन तुमने ठीक कहा मैं अभी केले को चूत में डालती हूं। केले को मैं अपनी चूत में डाल रही हूं मुझे वाकई में बड़ा मजा आ रहा है केला मेरी चूत के अंदर अभी तक नहीं जा पाया है।

मैं- मेरा लंड तो पूरी तरीके से कड़क हो चुका है और केला भी तुम्हारी चूत के अंदर चला जाएगा थोड़ा सा और कोशिश करो और अपने पैरो को चौड़ा करो।

रेखा- हां मेरी चूत के अंदर केला घुस चुका है अब मैं उसे बड़ी तेजी से अंदर बाहर कर रही हू मुझे बहुत मजा आ रहा है ऐसा लग रहा है मेरी चूत से पानी बाहर की तरफ से निकल आएगा और मैं कुछ देर बाद झड़ जाऊंगी।

मैं- मैं तो झड चुका हूं मुझे तुमसे बात करना बहुत अच्छा लगा और जिस प्रकार से तुमने आज मेरे अंदर के जोश को जगाया मैं चाहता हूं कि आगे भी हम लोग ऐसे ही बात करते रहे और तुम मेरी आग को भी ऐसे ही जलाती रहो।

रेखा- मेरी चूत के अंदर केला घुस चुका है अब मुझे बहुत मजा आ रहा है मुझे भी लग रहा है कि मैं झड़ चुकी हूं। आज तुमसे बात कर के बहुत अच्छा लगा तुमने मेरी इच्छा को पूरा कर दिया मुझे इस बात की खुशी है कि कम से कम तुम मेरी चूत की खुजली को मिटा पाए आज मैं बहुत ज्यादा तड़प रही थी।

Tags: , , ,
error: