कमसिन लडकी फोन पर चुदी

Hindi sex talk, antarvasna मैं अपने ऑफिस में बैठा हुआ था मैं मुंबई का रहने वाला एक 26 वर्षीय युवक हूं मेरा नाम संजीव है मेरी पैदाइश मुंबई में ही हुई इसलिए मुझे मुंबई के अलावा कहीं भी अच्छा नहीं लगता। जब मैं उस दिन ऑफिस में बैठा था तो उस दिन मुझे एक कंपनी का फोन आया और वह लड़की मुझसे बात करने लगी ना जाने उस लड़की से बात कर के मुझे क्यों अच्छा लगा। वह किसी कंपनी से संबंधित मुझसे बात कर रही थी लेकिन मैंने उससे कहा तुम मुझे अपना नंबर दे देना मैं तुम्हे फ्री होकर फोन करूंगा उसका नाम अंकिता था। उसने मुझे अपना नंबर दे दिया उसके बाद मैंने जब उससे उस रात फोन पर बात की तो हम दोनों को मजा आ गया और हम दोनों ने उसका रात बड़े ही अच्छे तरीके से बात की। अंकिता को भी मुझसे बात करना अच्छा लगा पहले तो हम दोनों कुछ देर तक मैसेज में ही बात करते रहे उसके बाद मैने अंकिता से उसके बारे में पूछना शुरू किया। मैसेज में हम दोनों की बातें हो रही थी।

मैं- हेलो अंकिता।

अंकिता- हां सर कहिए।

मैं- अंकिता उस वक्त में अपने ऑफिस में बिजी था इसलिए तुमसे बात नहीं कर पाया सोचा अभी तुमसे मैसेज मे बात करूं क्या तुम फ्री हो।

अंकिता- हां सर मैं अभी फ्री हूं आप कहिए आपको क्या कहना था।

मैं- मैं तो यही कह रहा था कि तुम मुझसे उस वक्त क्या कह रही थी मुझे कुछ समझ नहीं आया।

अंकिता- सर हमारी कंपनी ने एक ऑफर निकाला है वह कुछ चुनिंदा कस्टमर के लिए ही है यदि आप इंटरेस्टेड हैं तो मैं आपको वह प्लान बता सकती हूं।

मैं- मैं तो इंटरेस्टेड हूं लेकिन मैं किसके साथ जाऊंगा मैं तो अकेला ही हूं ना तो मेरी शादी हुई है और ना ही मेरी गर्लफ्रेंड है।

अंकिता- सर आप क्या बात कर रहे हैं आपकी कोई गर्लफ्रेंड भी नहीं है?

मैं- पहले तो तुम मुझे सर बोलना बंद करो मेरा नाम संजीव है और मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है।

अंकिता- सर यदि आपको बुरा ना लगे तो आपसे एक बात कहूं वैसे आपकी गर्लफ्रेंड होनी चाहिए थी।

मैं- तुम मेरी गर्लफ्रेंड क्यों नहीं बन जाती।

अंकिता- मैं आपकी गर्लफ्रेंड नहीं बन सकती।

मैं- लेकिन क्यों अंकिता बस ऐसे ही मेरा एक बॉयफ्रेंड पहले ही है और मैं उससे ही परेशान हूं।

मैं- अच्छा तो तुम्हारा बॉयफ्रेंड भी है तुम क्या उससे प्यार करती हो।

अंकिता- मुझे नहीं मालूम कि मैं उससे प्यार करती हूं या नहीं लेकिन हम दोनों एक दूसरे से हर रोज मिलते हैं।

मैं- तुम उससे मिलकर क्या करती हो तुम्हे उसके साथ समय बिताना अच्छा लगता है।

अंकिता- हां मुझे उसके साथ में समय बिताना अच्छा लगता है और हम लोग एक दूसरे से काफी बातें करते हैं।

मैं- क्या सिर्फ तुम उससे बात ही करते हो या फिर कुछ और भी करती हो।

अंकिता- आप कैसी बात कर रहे हैं मुझे तो आपसे बात करना अच्छा नहीं लग रहा मैं आपसे बात नही कर रही हूं।

मैं- ठीक है तुम अब मैसेज मत करना।

रात के वक्त मुझे अंकिता का मैसेज आया और वह मुझसे बात करने की इच्छा जाहिर करने लगी। मैंने भी कहा तुम तो मुझसे बात नहीं कर रही थी लेकिन फिर हम दोनों ने फोन पर बात की और उस वक्त जब हमारे बीच फोन सेक्स हुआ तो वह बड़ा ही मजेदार था।

मैं- हेलो अंकिता।

अंकिता- हां संजीव कहिए।

मैं- तुम तो भाव खा रही थी और मुझे कह रही थी कि मुझे तुमसे बात ही नहीं करनी।

अंकिता- मै आपका दिल नहीं दुखाना चाहती थी।

मैं- मैं तुम्हारा कौन लगता हूं जो तुम मेरा दिल नहीं दुखाना चाहती थी, तुम ही मुझे बताओ।

अंकिता- ना जाने आपसे बात कर के क्यो अच्छा लगा इसलिए मैंने आपसे बात की और आपसे बात करना मुझे अच्छा लग रहा है।

मैं- तुमने अपने बॉयफ्रेंड के साथ क्या-क्या किया है?

अंकिता- मैंने उसके साथ सब कुछ किया है, हम लोग हर हफ्ते सेक्स करते हैं लेकिन अब मुझे उसके साथ सेक्स करने में मजा नहीं आता क्योंकि हम दोनों एक दूसरे के साथ सेक्स कर के थक चुके हैं मुझे कुछ नया चाहिए।

मैं- तो फिर तुम मेरे लंड को अपनी चूत में ले लो ना तुम्हें कुछ नया लगेगा।

अंकिता- छी! आप कैसी बात कर रहे हैं मुझे शर्म आ रही है यह लंड क्या होता है।

मैं- क्यों तुम्हें लंड नहीं पता लंड क्या होता है।

अंकिता- मैं उसे पेनिस कहती हूं मुझे यह लंड कहना अच्छा नहीं लगता।

मैं- हमें तो देसी भाषा में लंड बोलना अच्छा लगता है और लंड बोल कर एक अलग ही फीलिंग आती है। उससे आपके अंदर से एक अलग ही भावना आती है।

अंकिता- आपका लंड कितना मोटा होगा?

मैं- मेरा लंड 10 इंच मोटा है और तुम्हारे बॉयफ्रेंड का कितना मोटा है।

अंकिता- मेरे बॉयफ्रेंड का तो 9 इंच मोटा लंड है जब उसका लंड मेरी चूत में जाता है तो मेरे पेट के अंदर गुदगुदी सी महसूस होती है और मेरी उत्तेजना बढ़ जाती है।

मैं- अच्छा तो तुम्हारे अंदर की उत्तेजना बढ़ जाती है और क्या क्या होता है।

अंकिता- बस पूछो मत क्या क्या होता है वह मेरी चूत का भोसड़ा बना देता है और मेरी चूत से पूरा रस बाहर निकाल देता है।

मैं- तुम अपनी चूत की फोटो भेजो ना मैं भी तो देखूं तुम्हारी चूत का कितना भोसड़ा बना पड़ा है।

अंकिता- मुझे 10 मिनट दीजिए मैं 10 मिनट बाद आपको भेजती हूं क्योंकि मेरी बहन आने वाली है और फिर वह मम्मी के साथ सोने के लिए चली जाएगी।

मैं- ठीक है तुम 10 मिनट बाद फोटो भेजो मैं इंतजार कर रहा हूं।

दस मिनट इंतजार करने के बाद मुझे अंकिता ने जब अपनी चूत की फोटो भेजी तो उसकी चूत में हल्के भूरे रंग के बाल थे और उसकी चूत का रंग बड़ा ही अच्छा था। उसकी योनि का रंग थोड़ा सा लाल और थोड़ा सा पिंक था। मैने दस मिनट बाद जब अंकिता को फोन किया तो अंकिता तडप रही थी।

मैं- हेलो अंकिता तुम्हारी चूत तो बड़ी लाजवाब है यार मजा आ गया।

अंकिता- हां तुम बिल्कुल सही कह रहे हो मेरा बॉयफ्रेंड भी मुझे यही कहता है।

मैं- यार उसकी किस्मत अच्छी है उसे तुम जैसी गर्लफ्रेंड मिली और तुम्हारे बदन को वह महसूस कर पा रहा है यह उसकी खुशनसीबी है कि तुम उसे मिली।

अंकिता- यदि मैं आपकी गर्लफ्रेंड होती तो आप मेरे साथ क्या करते।

मैं- वह तो वक्त ही बताता कि मैं तुम्हारे साथ क्या करता लेकिन मैं तुम्हारी चूत का भोसड़ा जरूर बना देता, जब मेरा 10 इंच मोटा लंड तुम्हारी चूत के अंदर जाता तो तुम चिल्ला उठती।

अंकिता- आप बिल्कुल सही कह रहे हैं आप मुझे अपने लंड की फोटो भेजो ना मैं भी तो देखूं आप कैसे दिखते हो और आपका लंड कैसा दिखता है।

मैं- बस अभी रूको मैं अपने लंड की फोटो भेजता हूं तुम थोड़ा इंतजार करो।

अंकिता- आपका लंड तो वाकई में गजब का है और बहुत मोटा भी है मुझे आपके लंड को देखने में बड़ा मजा आ रहा है काश मै उसे अपनी चूत में ले पाती।

मैं- तुम उसे जरूर अपनी चूत में ले लोगी बस तुम्हें कुछ दिन का इंतजार और करना पड़ेगा तुम मुझसे मिलो तो सही मैं तुम्हारी चूत फाड़ कर रख दूंगा।

अंकिता- मुझे पूरी उम्मीद है कि आप मेरी चूत को फाड़ कर रख देंगे क्योंकि आपका जितना मोटा लंड है उससे मुझे यही लग रहा है कि आप मेरी चोद के बुरा हाल कर देंगे।

मैं- हां मैं तुम्हारी चूत के बुरे हाल तो कर ही दूंगा मुझे पूरी उम्मीद है कि मैं तुम्हारी चूत के बुरे हाल कर दूंगा।

अंकिता- मैं अपनी चूत में केले को ले रही हूं और मुझे बड़ा अच्छा लग रहा है मैंने केले को पूरे तेल में डूबा दिया था और अपनी चूत के अंदर घुसा दिया। ऐसा लग रहा है जैसे कि आपका लंड मेरी चूत में जा रहा है।

मैं- मेरा लंड भी पूरा खड़ा हो चुका है और तन कर खड़ा है तुम्हें चोदने में बड़ा मजा आ रहा है।

अंकिता- मेरी चूत तो आपके लिए फड़फड़ा रही थी। आपके जैसे लंड को लेने में मैं खुश हो चुकी हूं आप मेरी गांड में लंड डाल दीजिए ना।

मैं- मै तुम्हारी गांड में लंड डाल देता हूं तुम अपनी गांड के अंदर उंगली डाल दो।

अंकिता- मैंने अपनी गांड में उंगली डाल दी है और मुझे बड़ा अच्छा लग रहा है जिस प्रकार से आपका लंड मेरी गांड में जा रहा है लेकिन अब मैं ज्यादा देर तक नहीं झेल पाऊंगी।

मैं- मेरा वीर्य भी बाहर निकल रहा है बस गिरने वाला है तुम्हारी चूतड़ों पर मैंने अपने वीर्य को गिरा दिया है तुम्हारे चूतड़ों की कल्पना मात्र से ही मेरा वीर्य बाहर गिर गया।

मैंने फोन रख दिया और उसके बाद मैं गहरी नींद में सो गया।

Tags: , , ,
error: