डांट के बाद फ़ोन सेक्स मिला

आज मैं आप लोगों के सामने हिंदी सेक्स चैट वाली एक देसी कहानी लेकर हाजिर हूँ. ये कहानी मेरे और मेरी बॉस की है जो की एक तलाकशुदा औरत हैं. ये बात पिछले हफ्ते की है. मुझे एक फाइल पूरी करनी थी लेकिन थोडा दुसरे काम में उलझे होने की वजह से मैं वो फाइल पूरी नही कर पाया. उससे भी बुरा ये किया मैंने की मैंने मैडम को बताया भी नही की फाइल पूरी नही हुई है और ऑफिस से चला गया. जब उन्हें पता चला की फाइल कम्पलीट नही है तो उन्होंने कॉल किया मुझे लेकिन मेरा फ़ोन साइलेंट पर था इसीलिए मुझे पता नही चला. जब मैं रात में घर पहुंचा तो मैंने कॉल किया. मेरे कॉल करते ही वो मुझे पर गुस्सा होने लगीं और मुझे डांटने लगीं. मैंने मनाने के लिए उनको बोला मैडम, कल मैं आपको ये फाइल पूरी कर के दे दूंगा. आज नही कर पाया इस बात के लिए मैं माफ़ी चाहता हूँ.

मैडम: मुझे कुछ नही पता. आज का काम आज होना चाहिए या कल?

मैं: आज

मैडम: तो फिर? मैं तुम्हे नौकरी से निकाल सकती

मैं: सॉरी मैडम, मैं माफ़ी चाहता हूँ. आप जो बोलो मैं वो करने के लिए तैयार हूँ.

मैडम: तुम्हारे सॉरी बोलने से सब काम सही हो जाएगा क्या?

मैं: मुझे पता है की नही सही होगा लेकिन मैंने जान बुझकर नही किया ऐसा. आप जो बताओ, मैं वो करने के लिए तैयार हूँ.

मैडम: अच्छा, जो बोलूंगी, वो करोगे?

मैं: हाँ मैडम.

मैडम: ठीक है लेकिन ये बात किसी को गलती से भी नही पता चलनी चाहिए.

मैं: हाँ नही बताऊंगा मैडम लेकिन करना क्या होगा?

मैडम: मुझे खुश.

मैं: मैं समझा नही कुछ. खुश कैसे?

मैडम: औरतों को खुश कैसे करते हैं? तुम्हें ये भी पता है की मैं तलाकशुदा हूँ. मेरी भी शारीर की जरूरतें होती हैं. बस उन्हें पूरा कर दो, मेरी अन्औतर्रवासना शांत कर दो और मैं खुश हो जाउंगी. इतना सिंपल तो है.

मैं: मैडम ये सब आप मुझे टेस्ट करने के लिए बोल रही हैं न?

मैडम: मेरी चुत की खुजली मिटा दो. अब तो हुआ यकीन की सच बोल रही हूँ?

मैं: हाँ मैडम लेकिन अभी तो आपके घर आना नही हो सकता है क्यूंकि रात के २ बज रहे हैं और मेरी गाडी भी खराब है.

मैडम: मुझे कुछ नही पता. मेरी प्यास बुझाओ चाहे कैसे भी.

मैं: मैडम एक चीज ही सकती है अभी के लिए और वो है फ़ोन सेक्स.

मैडम: चलो ठीक है, अभी के लिए वही सही. जल्दी से शुरू करो.

मैं: पक्का न मैडम आप मुझसे चुदना चाहती हैं अभी कॉल पर?

मैडम: हाँ, मैं तुमसे अपनी चूत का भोसड़ा बनवाना चाहती हूँ.

मैं: ठीक है मैडम, क्या पहना हुआ है आपने?

मैडम: टीशर्ट और पायजामा लेकिन इसे जल्दी से निकाल दो.

मैं: हाँ मैडम, मैं निकालने के लिए ही पूछ रहा था. निकाल दिया.

मैडम: मेरे बूब्स कैसे हैं? पसंद हैं तुम्हे?

मैं: मैडम, आपके बूब्स मुझे तभी से पसंद हैं जब मैं आपके पास इंटरव्यू के लिए आया था. आप बॉस हैं मेरी इसीलिए कभी कुछ इशारे में भी बोलने की हिम्मत नही पड़ी.

मैडम: अरे इशारा तो करते, मेरी चूत अब तक प्यासी नही रहती फिर. खैर, अभी मेरे दूध चुसो तो.

मैं: हाँ मैडम, चूस रहा हूँ. आपने निप्पल चूस रहा हूँ. आपने दूध काफी मस्त हैं.

मैडम: चुसो इन्हें, जोर से चुसो. पूरा पी जाओ दूध.

मैं: हाँ मादा, पी रहा. तब तक आप भी चाहो तो मेरे लौड़े से खेल सकती हो.

मैडम: ऐसे काम में देरी कैसी. मैंने तुम्हारे कपड़े निकाल दिए. दो मेरे हाथ में लौदा दो अपना.

मैं: लो मैडम, जो मन हो वो करो इसके साथ.

मैडम: मैं तो सीधा चूस रही हूँ इसे. बहुत बड़ा हैं तुम्हारा लौड़ा.

मैं: मैडम, पूरा मुह में लो इसे, अन्दर तक. अच्छे से चूसो.

मैडम: हाँ, पूरा चूस रही हूँ. टट्टे भी सहला रही हूँ.

मैं: मजा आ रहा है मैडम. आप बहुत अच्छे से चुस्ती हो. माल पीना चाहोगी मेरे लंड का?

मैडम: हाँ, जब निकले तो मेरे मुंह में ही निकाल देना.

मैं: ठीक है. जोर जोर से चुसो पूरा अन्दर तक.

मैडम: हाँ, चूस रही हूँ. झाड दो मेरे मुंह में अपना माल.

मैं: हाँ मैडम, निकाल रहा हूँ. लो, पी जाओ पूरा, गटक जाओ.

मैडम: पी गयी पूरा. मजा आ गया.

मैं: मैडम अब ये बताओ की आपकी चूत चाटूं या सीधा चोद दूं?

मैडम: प्यासी है चूत मेरी. थोडा तो चाटो.

मैं: हाँ मैडम, चाट रहा. आपकी चूत कसी है काफी. ऊँगली नही करती हो क्या आप?

मैडम: करती हूँ लेकिन इस बात का ख्याल रखती हूँ की फैले न चूत. उम्म्म आह्ह उह्ह्ह, अच्छे से चाटो. मजा आ रहा है मुझे.

मैं: हाँ मैडम, चाट रहा हूँ. आपकी चूत को अपनी जीभ से चोद रहा हूँ.

मैडम: उईइ आह्ह्ह उम्म्म अहह गरम हो चुकी हूँ मैं पूरी. अब रहा नही जा रहा मुझसे. चोद दो अब मुझे.

मैं: ठीक है मैडम, टांगें फैला लो आप अपनी.

मैडम: फैला लीं.

मैं: घुसा रहा हूँ अपनी चूत में अपना लौड़ा. आधा घुस गया. चूत कसी है आपकी काफी.

मैडम: उईईई अहह उम् अहह मजा आ गया. दर्द तो हो रहा है लेकिन पूरा डालो. चोदो आज मुझे जोर जोर से.

मैं: हाँ मैडम, अब पूरा डाल दिया. चोद रहा हूँ आपकी चूत को जोर जोर से.

मैडम: उई उम्म्म अहह आह मजा आ रहा है. चोदो मुझे आज जोर जोर से. फाड़ दो मेरी चूत आज.

मैं: हाँ, पूरा अन्दर तक जोर जोर से चोद रहा हूँ.

मैडम: उईइ उह्ह अहह आःह्ह.. हाय मेरी चूत.. आज सुकून मिला है इसे.

मैं: अब से अगर आप चाहोगी तो अक्सर मिलता रहेगा आपकी चूत को सुकून.

मैडम: हाँ, वो तो चाहिए मुझे.

मैं: घोड़ी बनोगी मैडम?

मैडम: जरुर. लो बन गयी मैं घोड़ी. फाड़ दो अब मेरी चूत को.

मैं: डाल दिया लौड़ा आपकी चूत में. चोद रहा आपकी चूत को. फाड़ रहा हूँ आपकी चूत.

मैडम: थक गयी हूँ मैं तो. पिला दो मुझे अपना माल फिर से.

मैं: लो मैडम, ली लो मेरे लंड का माल. झाड रहा हूँ.

मैडम: गप्प गप्प.. गटक गयी पूरा. मजा आ गया आज सच में. बहुत दिनों बाद मेरी चूत की प्यास बुझी है.

मैं: अब तो ये लंड आपका ही है, जब चाहो इसे मुंह में, चूत में या चाहो तो अपनी गांड में भी ले सकती हो.

मैडम: गांड मेरी अभी भी कुंवारी है. चलो कभी मन किया तो कोशिश करूंगी. अभी सोते हैं, कल ऑफिस भी जाना है.

मैं: हाँ मैडम. ऑफिस में किसी को पता नही चलेगा और हम दोनों मजे भी करते रहेंगे.

मैडम: हाँ. चलो कल ऑफिस में मिलते हैं. और सुनो.

मैं: हाँ.

मैडम: तुम अच्छे लगे मुझे. तुमको नौकरी से कभी नही निकालूंगी. बस इसी तरह मुझे खुश करते रहो.

मैं: जरुर मैडम. गुड नाईट मैडम.

मैडम: गुड नाईट.

Tags: , , ,
error: